देशराजनीति

टेंशन में आयी भाजपा, हर तरफ शुरू हुआ बग़ावत का शोर…

Image result for भाजपा

आगमी विधान सभा से पहले सियासी संग्राम शुरू हो गया है. भाजपा में अब बगावत का दौर शुरू को गया है बताते चले  बीजेपी नेताओं के टिकट कटने से नाराज़गी अब खुलकर सामने आ गयी है. पूरे प्रदेश में हर तरफ बग़ावत और विरोध के सुर हैं. इन बाग़ियों और असंतुष्ट नेताओं की वजह से बीजेपी हाईकमान टेंशन में है. रूठों को मनाने के लिए पार्टी के पदाधिकारी सक्रिय हो गए हैं. बीजेपी के घर में चल रहे घमासान पर कांग्रेस नेताओं की नज़र है.

प्रदेश की 22 से ज़्यादा ऐसी सीट हैं, जहां बीजेपी नेताओं की टेंशन बढ़ गई है. ये टेंशन टिकट कटने वाले विधायकों और टिकट मांगने वाले नेताओं को लेकर है. ऐसे नेताओं की लंबी फेहरिस्त है, जिन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने के साथ पार्टी के ख़िलाफ ही मोर्चा खोल दिया है.

टिकट कटने पर टीकमगढ़ के बीजेपी विधायक के के श्रीवास्तव ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोला तो सिंगरौली में पूर्व मंत्री स्व. जगन्नाथ सिंह के भाई अमर सिंह को टिकट देने पर बहू राधा सिंह नाराज़ हो गयीं. हाटपिपल्या से चार बार के विधायक तेज सिंह सेंधव ने अनदेखी का आरोप लगाते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया. यही हाल बागली का है. बागली विधायक चंपालाल देवड़ा ने निर्दलीय चुनाव चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया.

खंडवा में उम्मीदवार देवेंद्र वर्मा के विरोध में युवाओं ने प्रदर्शन किया और पंधाना में पूर्व विधायक योगिता बोरकर ने प्रत्याशी राम दांगोरे के खिलाफ मोर्चा खोला.मांधाता में नगर परिषद अध्यक्ष संतोष राठौड़ ने प्रत्याशी नरेंद्र सिंह तोमर का विरोध किया तो पनागर में विधायक सुशील तिवारी का स्थानीय स्तर पर विरोध हो रहा है. रतलाम सिटी से पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी के विरोधी तेवर सामने आए हैं. नीमच की मनासा सीट पर माधव मारू का विरोध शुरू हो चुका है और सीहोर में विधायक रमेश सक्सेना को भी विरोधियों का सामना करना पड़ रहा है.

Back to top button