नौकरी

Bank PO EXAM : जानिए कैसे तैयारी, यहाँ मिलेगी पूरी जानकारी

Bank PO Exam Pattern and Syllabus

बैंक पीओ की जॉब बैंक की शानदार जॉब्स में से एक होती है। यही कारण है कि इसका क्रेज कभी कम नहीं होता। करियर, सैलरी और और प्रतिष्ठा तीनों तरीके से प्रोबेशनरी ऑफिसर की जॉब टॉप पर होती है। सार्वजनिक और राष्ट्रीकृत बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर के लिए बैंक समय-समय पर बड़ी संख्या में पीओ की भर्तियां निकलते हैं। इसकी तैयारी भी खास तरीके से ही करनी होती है क्योंकि इसमें कॉप्टिशन बहुत है। बैंक पीओ की तैयारी से पहले इसके पैटर्न को समझाना ज्यादा जरूरी है।

एग्जाम में कैसे और किस तरह के प्रश्न आते हैं और इन्हें किस तरीके से तैयार किया जाए – इस परीक्षा में सफल होने के लिए ये जानना बेहद जरूरी है। बता दें क‍ि प्रोबेशनरी ऑफिसर परीक्षा एवं चयन प्रक्रिया दो चरणों में होती है। पहले चरण में लिखित परीक्षा होती है। इसके प्रश्न पत्र हिन्दी और अंग्रेजी में होते हैं।

इस परीक्षा में सामान्य ज्ञान और हिन्दी अंग्रेजी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। दूसरे चरण में सामान्य ज्ञान, हिन्दी, इंग्लिश और में मैथ्स के करीब 225 प्रश्न होते हैं, जिनके लिए दो घंटे और पंद्रह मिनट का समय होता है। दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। तो आइए जातने हैं पहले इसका प्रारूप और तैयारी करने के कुछ टिप्स।

PO Preliminary Exam Pattern : प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 
आईबीपीएस पीओ की प्रारंभिक और मेन परीक्षा के पेपर में पांच सेक्शन होते हैं – 1. इंग्‍लिश कॉम्प्रिहेंशन, 2. क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड,  3. रीजनिंग एबिलिटी, 4. बैंकिंग अवेयरनेस, 5. जनरल नॉलेज और कंप्‍यूटर अवेयरनेस

  1. इंग्लिश लैंग्वेज : इसका सिलेबस, प्रिलिम्स और मेन्स दोनों के लिए एक जैसा है, इसलिए अगर आपने प्रिलिम्स की तैयारी कर ली तो फिर मेंस के लिए आपको अलग से मेहनत की जरूरत नहीं होगी। रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन भी दोनों पेपर्स में एक-जैसा ही होता है।
  2. क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड : इस सेक्शन की तैयारी के लिए फॉर्म्युला और शॉर्टकट्स की अच्छी-खासी तैयारी चाहिए। खासतौर पर प्रॉफिट एंड लॉस, ऐवरेज, सिंपल एंड कंपाउंड इंटरेस्ट जैसे कुछ चैप्टर्स को बिलकुल अच्छे से तैयार कर लें। मेन्स एग्ज़ाम के लिए डेटा एनालेसिस एंड एंटरप्रिटेशन पर ज़्यादा फोकस करें और इसकी तैयारी के लिए चार्ट और ग्राफ जैसी चीजों का भी सहारा लें।
  3. जनरल अवेयरनेस एंड डिस्क्रिप्टिव सेक्शन : इन दोनों पेपर्स के लिए महत्वपूर्ण है कि समसामयिक घटनाओं से अपडेट रहें। न्यूजपेपर्स से लेकर मैग्जीन, किताबों और सोशल साइट्स से जितनी जानकारी मिल सके जुटाएं। इससे कॉम्प्रिहेन्शन टेस्ट के साथ-साथ व्याकरण संबंधी जानकारी भी मिलेगी।
  4. कंप्यूटर एप्टिट्यूड: यह सबसे आसान सेक्शन है इसलिए प्रिल्मिस एग्ज़ाम के बाद इस सेक्शन की तैयारी के लिए कुछ वक्त भी निकाल लेंगे तो इसकी तैयार की जा सकती है। ये बेहतर स्कोर भी देगा।
  5. एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग होती है। हर एक गलत जवाब के लिए 0.25 मार्क्स कटते हैं, इसलिए कॉमन टॉपिक्स से शुरुआत करें और बाद में उन सवालों और सेक्शंस पर जाएं, जहां से आपको ज्‍यादा मार्क्स मिलने की उम्मीद है।

इन बातें पर दें ध्‍यान 

  • बैंकिंग एग्‍जाम से जुड़ी किताबें खरीदें जिसमें लंबे सॉल्युशन के बजाय शॉर्ट ट्रिक को बताया गया हो। इससे एग्जाम हॉल में आप टाइम बचा सकें.
  • ऑनलाइन मॉक टेस्ट दीजिए ताकि पेपर साल्व करने की प्रेक्टिस होती रहे। मॉक टेस्ट से पता चलेगा कि कौन सा सेक्शन वीक पड़ है और आप उसपर मेहनत कर सकते हैं।
  • इंग्लिश की तैयारी के लिए ग्रामर बुक्स पढ़ें। कक्षा छठी से 10वीं तक की एनसीईआरटी की मैथ्स बुक से तैयारी करें।

तो इन बातों को ध्‍यान में रखकर आप बैंक पीओ की तैयारी कर सकते हैं। साथ ही जनरल नॉलेज पर अपनी पकड़ बनाए रखें और करंट अफेयर्स को लगातार पढ़ते रहें। प्‍लान‍िंग और टाइम टेबल बनाकर चलेंगे तो आपको तैयारी में और आसानी होगी।

Back to top button