खेल

इतना मत इतराइए अश्विन साहब, आपने मैच जीता नहीं बल्कि ‘चुराया’ है !

कल खेले गए आईपीएल मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब ने राजस्थान रॉयल्स को 14 रनों से मात दी. 12 साल के टूर्नामेंट में इतिहास में यह पहला मौका है जब पंजाब ने राजस्थान को उसके घर याने जयपुर में हराया है. इस मैच को जीतने के बावजूद खेल भावना के मुद्दे पर किंग्स इलेवन हार गई, और इसका एकमात्र कारण उसके कप्तान रविचंद्रन अश्विन हैं.

दरअसल अश्विन द्वारा बेहद नाटकीय तरीके से बटलर को रनआउट किया गया. मैच के बाद अश्विन ने कहा, “बटलर के साथ कोई झगड़ा मैदान पर नहीं हुआ था. वो केवल स्‍वाभाविक प्रतिक्रिया था. मैं अभी क्रीज पर पहुंचा भी नहीं था और वो बाहर निकल चुके थे. वो उस वक्‍त मेरी तरफ देख भी नहीं रहे थे और बिना देखे वो बस आगे निकल गए. हमें केवल नियम के मुताबिक सही करने की जरूरत थी. मुझे लगता है कि वो गेम चेंजिंग मूमेंट था.”

दरअसल, 13वें ओवर की पांचवीं गेंद पर सामने संजू सैमसन बल्लेबाजी कर रहे थे और जोस बटलर दूसरे छोर पर खड़े हुए थे. अश्विन गेंदबाजी करने आए लेकिन अचानक वो रुक गए और उन्होंने देखा कि जोस बटलर पहले ही रन लेने के लिए पिच छोड़ चुके हैं. उन्होंने गेंद से गिल्लियां बिखेर दीं. बटलर ने पीछे देखा और लौटने की कोशिश भी की लेकिन अश्विन उनको पवेलियन भेजने का इरादा कर चुके थे.

आमतौर पर ऐसे रन आउट करने से पहले गेंदबाज बल्लेबाज को एक चेतावनी देता है कि वो ऐसा ना करे और अगली बार फिर दोहराने पर उसे वापस लौटना ही पड़ता है लेकिन यहां पर अश्विन अड़ गए. फैसला थर्ड अंपायर को सौंपा गया और थर्ड अंपायर ने भी बटलर को लौटने का आदेश दे डाला.

अश्विन के इस फैसले की आलोचना हो रही है.

Back to top button