देश

पढ़िए जेटली के खत में लिखा एक-एक अल्फाज, जो उन्होंने मोदी को भेजा है

लंबे समय से कैंसर की बीमारी से लड़ रहे केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर अपील की है कि उन्हें मंत्री बनाने का विचार ना किया जाए. जेटली ने अपने खत में लिखा है कि पिछले 18 महीने से उनकी तबीयत खराब है ऐसे में वह जिम्मेदारी को नहीं निभा पाएंगे, इसलिए उन्हें मंत्री बनाने पर कोई विचार ना करें.

जेटली ने पत्र में लिखा, ‘प्रधानमंत्री जी आपकी अगुवाई में 5 साल काम करने का अनुभव बहुत ही अच्छा रहा. इससे पहले भी एनडीए सरकार में मुझे जिम्मेदारियां दी गईं. सरकार के अलावा संगठन और विपक्ष के नेता के रूप में मुझे अहम जिम्मेदारियों से नवाजा गया.अब मुझे कुछ नहीं चाहिए.‘

‘पिछले 18 महीनों से मैं गंभीर बीमारी से पीड़ित हूं. चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद जब आप केदारनाथ जा रहे थे, तब मैंने आपको मौखिक तौर पर कहा था कि स्वास्थ्य कारणों से मैं भविष्य में कोई भी जिम्मेदारी उठाने में असमर्थ रहूंगा. मुझे अपने इलाज और स्वास्थ्य पर ध्यान देना है.‘

‘बीजेपी और एनडीए ने आपके नेतृत्व में शानदार जीत दर्ज की है. कल नई सरकार का शपथ ग्रहण होने वाला है. मैं आपसे औपचारिक रूप से अनुरोध करने के लिए लिख रहा हूं कि मुझे अपने इलाज और स्वास्थ्य के लिए उचित समय चाहिए और इसलिए मैं नई सरकार में किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं बनना चाहता हूं. इसके बाद निश्चित तौर पर मेरे पास काफी समय होगा, जिसमें मैं अनौपचारिक रूप से सरकार या पार्टी में कोई भी सहयोग कर सकता हूं. ‘

 

Back to top button