देश

‘गधे की औलाद’ पर माफी मांगे अर्नब गोस्वामी, जानिए पूरा विवाद !

हो सकता है कि ये हेडलाइन पढ़कर आपको यकीन न हुआ हो कि रिपब्लिक टीवी वाले अर्नब गोस्वामी किसी से माफी भी मांग सकते हैं. लेकिन ऐसा हुआ है, अर्नब ने माफी मांगी है और वो भी किसी और के मुंह से निकले विवादित बयान के लिए.

दरअसल, अर्नब के शो में बसपा सुप्रीमो मायावती की उस विवादित टिप्पणियों पर बहस हो रही थी, जिसमें उन्होंने मुसलमानों से महागठबंधन के उम्मीदवारों को वोट देने के लिए अपील की थी. कुछ देर बाद इस डिबेट में शामिल पैनलिस्टों के बीच आपस में बहस शुरू हो गई. डिबेट में शामिल एक मुस्लिम अतिथि को मायावती के बयान में कुछ गलत लगा. उस शख्स ने एक लोकप्रिय हिंदी कहावत का उदाहरण देते हुए अपने तर्क का समर्थन करने की मांग की. उन्होंने कहा, “अगर अलगु चौधरी रात में सेक्युलर हो और सुबह को धोती बदल ले तो कोई सवाल नहीं पूछा जाता है. लेकिन अगर जुम्मन शेख सेक्युलर के रूप में पैदा होते हैं और सेक्युलर के रूप में मर जाते हैं, तो…”

इसी दौरान बीच में ही एक आरएसएस समर्थक पैनलिस्ट ने मुस्लिम पैनलिस्ट का मजाक उड़ाते हुए पूछा कि क्या वह जेएनयू के तुकडे टुकडे गिरोह से संबंधित हैं? आरएसएस समर्थक के बयान पर मुस्लिम शख्स भड़क गया और उन्होंने आरएसएस के व्यक्ति से कहा, “अबे सुन…. गधे की औलाद सुन…” इसके बाद अर्नब ने कहा कि प्लीज देखिए कोई भी किसी दूसरे को ‘गधे की औलाद’ मत कहे.

इसके बाद आरएसएस पैनलिस्ट ने मुस्लिम पैनलिस्ट से गधे की औलाद वाले बयान में मांफी मांगने की मांग की, लेकिन उन्होंने ऐसा करने मना कर दिया. मामला बढ़ता देख अर्नब गोस्वामी ने खुद माफी मांगने का ऐलान कर दिया. गोस्वामी ने कहा, “यह मेरा शो है और मैं माफी मांग रहा हूं.” उन्होंने बाद में सभी पैनलिस्टों से गुजारिश करते हुए कहा कि कोई भी ऐसी भाषा का इस्तेमाल ना करे और मुद्दे पर बात करिए.

खबर सौजन्य- जनता का रिपोर्टर डॉट कॉम

Back to top button