उत्तर प्रदेश

विवेक हत्याकांड: यूपी पुलिस में चरम पर बगावत, सोशल मीडिया पर डिप्टी सीएम के लिए लिखा ये सब

एसएचओ ने फेसबुक पर की आपत्तिजनक पोस्ट

अमेठी। विवेक तिवारी हत्याकांड को लेकर यूपी में सियासी घमासान के साथ-साथ खाकी वर्दीधारियों का गुस्सा सातवे आसमान पर है। शुक्रवार को प्रदेश के अलग-अलग जिलों में वर्दीधारियों ने जहां काली पट्टियां बांध कर विरोध दर्ज कराया। वहीं जामों थाना क्षेत्र के एसएचओ ने प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विरुद्ध आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल किया। 5 अक्टूबर को डीआईजी लॉ एंड ऑर्डर ने सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी किया था। उन्होंने इसमे कहा कि उन पुलिस वालों पर नजर रखी जाए जो इस प्रकार की पोस्ट शेयर कर रहे हैं तथा लोगों में आक्रोश बढ़ाने का काम कर रहे हैं।

एसएचओ ने फेसबुक पर की आपत्तिजनक पोस्ट

जानकारी के अनुसार जिले के पुलिस तंत्र में उस समय हड़कम्प मच गया जब जामों थाने के इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह ने अपनी फेसबुक वाल पर आपत्तिजनक टिप्पणी की। इंस्पेक्टर गजेंद्र ने ये टिप्पणी विवेक तिवारी हत्याकांड के दो दिन बाद किया था। 1 अक्टूबर को रात 8:47 मिनट पर फेसबुक वाल पर इंस्पेक्टर ने लिखा कि “कानून मंत्री बृजेश पाठक और उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य को अपने यहां से पुलिस को हटा लेना चाहिए, पुलिस सिक्योरिटी हटाकर प्राइवेट गार्ड रख लेना चाहिए”। दो मुही नजरिया ठीक नहीं है। इस पोस्ट को उन्होंने अपने साथियों को पोस्ट किया, जो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

एसपी ने किया सस्पेंड

एसपी ने किया सस्पेंड

इस मामले में अमेठी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अनुराग आर्य ने त्वारित कार्यवाई करते हुए इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। एसपी ने बताया कि इंस्पेक्टर की पोस्ट को लेकर आपत्ति जताई थी जिस पर एक्शन लिया गया। साथ ही एक जांच कमेटी बिठाई गई है, अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) बीसी दुबे कमेटी की मानिटरिंग कर रहे हैं।

पहले भी हो चुकी है बगावत

पहले भी हो चुकी है बगावत

इससे पहले एटा जिले में पोस्टेड सिपाही सर्वेश चौधरी ने डीजीपी को चुनौती दी थी। सिपाही ने लिखा था कि हां मैंने प्रशांत के खाते में 5 लाख रुपये डलवाए अब करो मुझे सस्पेंड। इसके बाद पुलिस विभाग ने कार्रवाई करते हुए सिपाही को सस्पेंड कर दिया था।

Back to top button