राजनीति

क्या राहुल को सेफ नहीं लग रही अमेठी, पार्टी ने ये सीट भी कर ली रेडी !

Rahul Gandhi

लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की सातवीं लिस्ट जारी कर दी है. पार्टी ने लिस्ट में कुल 35 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की है. लिस्ट में उत्तरप्रदेश पार्टी अध्यक्ष राज बब्बर की सीट बदल गई है. राज बब्बर को मुरादाबाद की जगह फतेहपुर सीकरी से उम्मीदवार बनाया गया है. मुरादाबाद से बब्बर की जगह कवि इमरान प्रतापगढ़ी को टिकट दिया गया है.

कांग्रेस के सूत्रों की माने तो ये सब पार्टी की लोक सभा चुनावों में उत्तर प्रदेश को लेकर बनाई गई  नई रणनीति का हिस्सा है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने बताया कि नई रणनीति के तहत कांग्रेस 30 सीटों पर ज़्यादा फ़ोकस करेगी. सूत्रों का कहना है कि यूपी में कांग्रेस गठबंधन भी इसी रणनीति के चलते कर रही है. साथ ही पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी के कार्यक्रम भी इस तरह बनाए जा रहे हैं कि ज़्यादा से ज़्यादा प्रचार प्रसार उन क्षेत्रों में हो सके जहां पार्टी को जीतने की उम्मीद है.

इस बीच बताते चले पिछले कई दिनों से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी के साथ अलग-अलग सीटों से चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे थे। कांग्रेस महासचिव और केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी के एक बयान के बाद इसकी अटकलें और तेज हो गई हैं। ओमन चांडी ने बताया कि राहुल गांधी से वायनाड सीट से चुनाव लड़ने की गुजारिश की गई है और वह आज ही इस संबंध में अपनी स्थिति स्पष्ट कर सकते हैं। माना जा रहा है कि राहुल गांधी दक्षिण भारत के 4 राज्यों, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए ऐसा फैसला ले सकते हैं।

कांग्रेस महासचिव ओमन चांडी ने कहा

‘केरल कांग्रेस कमिटी राहुल गांधी से केरल की किसी सीट से चुनाव लड़ने की गुजारिश कर चुकी है। उन्हें वायनाड से चुनाव लड़ने के लिए कहा जा रहा है। इस पर राहुल गांधी की प्रतिक्रिया आज किसी भी समय आ सकती है।’ बता दें कि पिछले कई दिनों से कयास लगाए जा रहे हैं कि राहुल गांधी इस बार दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं। इससे पहले उनके महाराष्ट्र के नांदेड और कर्नाटक की किसी सीट से भी चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा चुके हैं। बीते दिनों कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव ने राहुल को पत्र लिखकर उनसे कर्नाटक की किसी सीट से चुनाव लड़ने का आग्रह किया था।

वायनाड सीट से कांग्रेस नेता एमएल शाहनवाज पिछले दो बार से चुनाव जीत चुके हैं। यह सीट 2008 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई थी। यह सीट कन्नूर, मलाप्पुरम और वायनाड संसदीय क्षेत्रों को मिलाकर बनी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केरल कांग्रेस के अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने भी राहुल गांधी के वायनाड सीट से चुनाव लड़ने का दावा किया है।

दक्षिण भारत की ओर कांग्रेस की नजर
एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष से पिछले एक महीने से बातचीत चल रही थी। पहले वह राजी नहीं थे लेकिन अब वह मान गए हैं। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस की योजना यह है कि यदि राहुल गांधी एक और सीट से चुनाव लड़ते हैं तो उसके आसपास की सीटों पर भी माहौल बनेगा और कांग्रेस को बढ़त मिल सकेगी। खासतौर पर दक्षिण भारत में यदि राहुल अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हैं तो हिंदी पट्टी में कमजोर दिख रही कांग्रेस एक तरह से भरपाई की स्थिति में आ सकती है।

Back to top button