ख़बरदेश

एयरस्ट्राइक में मारे गए 200 आतंकी, रातोंरात हटाई गईं लाशें, सबूत है ये Video

पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जवाबी कार्रवाई करते हुए एयर स्ट्राइक किया था. जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकानों को निशाना बनाया गया था. इस बीच करीब 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन मारे गए आतंकियों का कोई सबूत सामने नहीं आया था.  इस मामले में एक अमेरिकी एक्टिविस्ट ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है, ये वीडियो एयर स्ट्राइक पर भारत सरकार के दावों की पुष्टि करता है. इसमें पाकिस्तान के झूठ का पूरी तरह से पर्दाफाश हो रहा है.

सेंगे हसनान सेरिंग नाम के इस एक्टिविस्ट के मुताबिक, ‘उर्दू मीडिया में कुछ रिपोर्ट्स छपी है जिसके मुताबिक भरतीय एयर स्ट्राइक के बाद बालाकोट से ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह और पाकिस्तान के आदिवासी इलाक़ों में कई लाशें लाई गईं हैं.’

सेंगे हसन सेरिंग ने कहा, ‘पाकिस्तानी आर्मी के अधिकारियों ने भी माना है कि बालाकोट में हुए एयर स्ट्राइक में 200 से अधिक शहादत हुई है. इतना ही नहीं उन आतंकियों को मुजाहिद (धर्म के लिए युद्ध करने वाला, ज़ेहाद करने वाला) और पाकिस्तान का हितैषी बताया, साथ ही उनकी विशेष तरफ़दारी की और उनके परिवारवालों की सहायता देने की भी बात कही.’

सेरिंग ने शेयर हो रहे एक वीडियो को लेकर न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘मैं इस वीडियो की विश्वसनीयता पर कोई दावा तो नहीं कर सकता लेकिन यह सच है कि पाकिस्तान बालाकोट को लेकर कुछ महत्वपूर्ण तथ्य छिपा रहा है. अंतर्राष्ट्रीय मीडिया या कोई अन्य मीडिया को अब तक पाकिस्तान सरकार की तरफ़ से उस जगह के निरीक्षण की अनुमति नहीं दी गई है. जबकि इमरान सरकार लगातार कह रही है कि वहां पर केवल पुरानी ईमारतें और जंगलों को नुकसान हुआ है. ऐसे में एक महत्वपूर्ण सवाल यह भी है कि इतने दिनों से उस इलाक़े की घेराबंदी क्यों की गई है और किसी भी मीडिया को इस बारे में कोई रिपोर्ट करने की इजाज़त क्यों नहीं है?’

Back to top button