राजनीति

मोदी का इंटरव्यू: क्यों पहनते हैं उल्टी घड़ी, स्कूल से किसलिए लाते थे चॉक, क्या है रिटायरमेंट प्लान ?

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक और इंटरव्यू प्रसारित हुआ, लेकिन पहले के हर इंटरव्यू से एकदम अलग. अभिनेता अक्षय कुमार ने पीएम के साथ उनकी जिंदगी के कई अनछुए पहलुओं पर चर्चा की. यह चर्चा जरा हटकर थी. एकदम राजनीति से परे. बातचीत की शुरुआत में प्रधानमंत्री ने भी कहा कि हम 24 घंटे राजनीतिक बातों में उलझे रहते हैं, इस बार हल्की-फुल्की बातें करने का मौका है.

चॉक के टुकड़े स्कूल से क्यों लाते थे घर ?

मोदी ने बताया कि बचपन में जूते भी उनके पास बहुत अच्छे नहीं रहते थे. बताया कि एक बार मामा घर आए और सफेद रंग के कैनवस जूते लाए. उन जूतों को सफेद रखने के लिए वो जुगाड़ लगाते थे. क्लास में जब सब बच्चे छुट्टी के बाद निकल जाते थे तो वो रुके रहते थे. टीचर जो चॉक के टुकड़े फेंक चुका होता था उनको उठाकर जूतों पर चला लेते थे. इससे जूते सफेद बनाते थे.

उल्टी क्यों पहनते हैं घड़ी ?

पीएम मोदी ने बताया कि वो अक्सर मीटिंग में रहते हैं और वहां वक्त भी देखना पड़ता है. लेकिन अगर मीटिंग में घड़ी की तरफ देखा जाए तो सामने वाले को लगता है कि वो जाने के लिए इशारा कर रहे हैं. यह अच्छा नहीं होता इसलिए मैं अपने हाथ में घड़ी उल्टी पहनता हूं.

क्या है रिटायरमेंट प्लान ?

मोदी ने अक्षय से बातचीत के दौरान एक वाकया सुनाया. कहा कि हम लोगों की एक इनर सर्कल की मीटिंग थी. अटल जी, आडवाणी जी, राजमाता सिंधिया जी, प्रमोद महाजन जी थे. उसमें सबसे छोटी आयु का मैं था. उसमें ऐसे ही बात छिड़ी कि रिटारटमेंट के बाद क्या करेंगे.मुझे पूछा तो मैंने कहा, मेरे लिए तो बहुत कठिन है. मुझे जो जिम्मेवारी मिलती है, वही करता जाता हूं.मैं समझता हूं कि इससे मुझे प्रधानमंत्री के रूप में देश की सेवा करने में बहुत सहायता मिली. उन्होंने कहा कि जीवन का पल-पल और शरीर का कण-कण किसी ने किसी मिशन में ही लगा रहने वाला है मेरा. मेरे पास इसके सिवाय कोई कौशल ही नहीं है.
Back to top button