उत्तर प्रदेश

2019 : यूपी की दो सीटे क्या RLD को देंगे अखिलेश !

लखनऊ : आगामी लोक सभा चुनाव के पहले सियासी माहौल गरमा गया है. सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. हाल में ही सपा-बासप गठबंधन के बाद यूपी में भाजपा के लिए एक बड़ी परेशानियो का दौर शुरू हो गया है. इस बीच कांग्रेस ने भी अकेले यूपी में 80 सीटो पर  चुनाव का ऐलान कल कर दिया है

इसी साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी नेताओं का मिलना-जुलना जारी है. महागठबंधन की एकता को बढ़ाने के लिए पिछले कुछ दिनों में कई तरह के समीकरण सामने आए हैं.  उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से बसपा-सपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि 2 सीटें अन्य पार्टी के लिए छोड़ी गई है. वहीं, अमेठी-रायबरेली सीट को कांग्रेस के लिए छोड़ा गया है. बताते चले समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल भी शामिल हो गया है। आरएलडी को दो सीटें देने की बात सामने आई है। एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक इंटरव्यू में कहा है कि आरएलडी को मथुरा और बागपत की सीटें चाहिए थीं, उन्हें वे सीटें दे दी गई हैं लिहाजा अब उनके साथ गठबंधन में कोई समस्या नहीं है।

अखिलेश ने कहा कि आरएलडी के साथ निषाद पार्टी भी उनके गठबंधन में शामिल है। सीट बंटवारे को लेकर आपस में कोई समस्या नहीं है। इस पर जल्द ही अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा।  

हमारी ताकत देखकर खराब भाषा का कर रहे प्रयोग

अखिलेश यादव ने कहा, ‘हम उत्तर प्रदेश में एक मजबूत ताकत के रूप में उभरे हैं, जिससे बीजेपी के नेताओं का लहजा और शब्द बदल गए हैं। वे अब हमारे खिलाफ खराब भाषा का इस्तेमाल करने लगे हैं।’

कौन होगा पीएम? सवाल पर चुप्पी
एसपी अध्यक्ष ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश हमेशा से ही देश की राजनीति में बदलाव लाता रहा है। इस बार उत्तर प्रदेश के लोग देश का प्रधानमंत्री बदल देंगे। हमारी लड़ाई बीजेपी के साथ है और हमें जनता का सहयोग मिल रहा है।’ हालांकि अगला प्रधानमंत्री कौन होगा? इस सवाल को वह टाल गए।  

राष्ट्रीय पार्टी इसलिए आपसी समझ नहीं
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन लोगों का कांग्रेस से किसी भी तरह का तालमेल नहीं है। उन्होंने कहा आखिर हमारी कांग्रेस के साथ कोई आपसी समझ कैसे हो सकती है। वह एक राष्ट्रीय पार्टी है। हमने उसके लिए अमेठी और रायबरेली लोकसभा सीटें दी हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मित्रता के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि वह इस समय इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहते।

यूके और एमपी में भी उतारेंगे प्रत्याशी

अखिलेश ने कहा कि मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में भी एसपी 1-2 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करेगी। उन्होंने कहा हम वहां दूसरी पार्टियों के साथ गठबंधन की संभावनाएं तलाशेंगे।

’60 % उम्मीदवार बदलने की तैयारी में बीजेपी’

एसपी अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी ने यूपी में अपने प्रभारी को सिर्फ इसलिए बदला ताकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट बचाई जा सके। उन्होंने कहा कि बीजेपी के बड़े-बड़े वादे करने के बावजूद जमीन पर कोई काम नहीं किया। बीजेपी के सांसद कभी अपने क्षेत्र में नहीं गए। अब यह भी कहा जा रहा है कि पार्टी अपने 60 फीसदी उम्मीदवारों को बदलने जा रही है लेकिन यह सारी तरकीबें काम नहीं आएंगी। 

‘देंगे सीबीआई के हर सवाल का जवाब’
खनन मामले में सीबीआई द्वारा पूछताछ की संभावना के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि वह सीबीआई के हर सवाल का जवाब दे देंगे। उन्होंने कहा कि लेकिन यह भी सच है कि यह सब कुछ लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी द्वारा अपनाया जा रहा हथकंडा है।

नहीं चाहते डिंपल लड़ें चुनाव
डिंपल यादव के चुनाव लड़ने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि वह नहीं चाहते कि उनकी पत्नी और कन्नौज से सांसद डिंपल यादव अगला लोकसभा चुनाव लड़ें। उन्होंने कहा कि हालांकि इस बारे में अंतिम फैसला वह खुद लेंगी।

Back to top button