उत्तर प्रदेश

करारी हार पर सपा में हाहाकार, बौखलाए अखिलेश ने पूरी टीम की साफ

लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में भी मोदी लहर ऐसी चली कि सारे सियासी समीकरण ध्वस्त हो गए. चुनाव परिणाम के बाद राजनीतिक दलों में कार्रवाइयों का दौर शुरू हो गया है. निराशाजनक प्रदर्शन के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरूवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए पार्टी के सभी प्रवक्ताओं का मनोनयन तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया है. पार्टी का पक्ष रखने के लिए ये प्रवक्ता न्यूज़ चैनलों पर नजर आते थे.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने एक प्रेस रिलीज जारी की. रिलीज़ के मुताबिक, ‘राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की स्वीकृति से अभी तक समाजवादी पार्टी के जितने भी मीडिया पैनलिस्ट नामित किए गए हैं, उन सभी को उनके पद से तत्काल प्रभाव से हटाया जाता है.’

ये पत्र सपा ने सभी समाचार चैनलों को भेजा है. पत्र में पार्टी का पक्ष रखने के लिए किसी भी पदाधिकारी को आमंत्रित नहीं करने का अनुरोध किया गया है. गौरतलब है कि 27 अगस्त 2018 को पार्टी ने 2 दर्जन प्रवक्ताओं की भारी-भरकम टीम बनाई थी.

वैसे पार्टी के नेता चुनाव नतीजों के बाद ही मीडिया से बात करने में कतरा रहे थे. अखिलेश को चिंता इस बात की भी होगी कि कहीं कोई नेता सपा-बसपा गठबंधन के खिलाफ कुछ न बोल दे जो कि सीधे-सीधे उनका फैसला था. शायद इसीलिए अब पार्टी की ओर से अगले ऐलान तक टीवी चैनल्स पर कोई चेहरा नहीं भेजा जाएगा.

Back to top button