देश

13 लोगों के साथ लापता हुआ वायुसेना का AN-32 विमान, चीन सीमा के पास भर रहा था उड़ान

एयरफोर्स का AN-32 विमान (फाइल फोटो)

 

जोरहाट (असम), । वायु सेना के एक एएन-32 विमान के सोमवार को उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही रडार से गायब होने की जानकारी सामने आई है।

रक्षा सूत्रों के अनुसार भारतीय वायुसेना का एक एएन -32 विमान जोरहाट से सोमवार की दोपहर 12.25 बजे अरुणाचल प्रदेश के मेंचुका स्थित एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरा था। सूत्रों ने बताया है कि विमान अंतिम संपर्क दिन के करीब एक बजे हुआ था। उसके बाद से विमान अचानक रडार से गायब हो गया और कोई संपर्क नहीं हुआ है।

विमान वायु क्षेत्र से गायब होने के बाद वायुसेना द्वारा तत्काल कार्रवाई शुरू की गई। विमान में कुल आठ व्यक्ति सवार थे। जिसमें चालक दल के 8 तथा  पांच यात्री सवार थे। विमान का पता लगाने के लिए सभी उपलब्ध संसाधनों को तुरंत एक्टिव किया गया है।अधिक जानकारी की प्रतीक्षा जारी है।

इस सम्बन्ध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एयर मार्शल राकेश सिंह से बातचीत की है। सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

एएन-32 विमान की खासियत:

एएन-32 एक रूसी-डिज़ाइन किया गया ट्विन इंजन टर्बोप्रॉप ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है, जिसका इस्तेमाल भारतीय वायु सेना द्वारा चार दशकों से बड़े पैमाने पर किया जाता है।

2016 में बंगाल की खाड़ी के ऊपर हुआ था हादसा:

22 जुलाई, 2016 में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए चेन्नई से उड़ान भरने के बाद बंगाल की खाड़ी के ऊपर उड़ान भरते समय भारतीय वायु सेना का एक एएन-32 गायब हो गया था।

खोज और बचाव अभियान इतिहास में समुद्र पर लापता विमान के लिए भारत का सबसे बड़ा ऑपरेशन चलाया गया लेकिन विमान कभी नहीं मिला। जहाज पर सवार सभी 29 लोगों को बाद में मृत घोषित कर दिया गया।

Back to top button