देश

कुशवाहा के बाद अब निर्दलीय उम्मीदवार ने तमंचा लहराकर दी खुली धमकी, दोहराई वही बात !

Independent candidate Ramchandra Yadav (photo-ANI)

देश में 17वें लोकसभा गठन के लिए सात चरणों में हुए मतदान के बाद अब 23 मई यानी कल मतगणना होनी है। गत 19 मई को सातवें तथा अंतिम चरण का मतदान हुआ। इसी क्रम में सिक्किम में भी विधानसभा और लोकसभा के लिए गत 11 अप्रैल को एक साथ मतदान हुआ। अब सभी की नजरे 23 मई अर्थात मतगणना पर टिकी है।

दूसरी ओर कल होने वाली मतगणना को लेकर राज्य चुनाव आयोग ने भी सभी तैयारियां कर ली है। मतों की गिनती पहले की तरह ही होगी तथा गिनती पूरी होने के बाद ही वीवीपैट पर्चियों का मिलान किया जायेगा। इस बीच केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कुछ राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा मतगणना के परिणाम अनुकूल नहीं आने पर हिंसा की धमकी दिये जाने के मद्देनजर सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा पुलिस महानिदेशकों से मतगणना के दिन कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है।

इस बीच मतगणना से पहले बिहार में बगावत देखने को मिल रही है. बताते चले बीते कल यानि मंगलवार को  कुशवाहा द्वारा नतीजों में गड़बड़ी का हवाला देकर खून बहाने की बात कहने के बाद अब बिहार के छुटभैये नेता भी ऐसे ही विवादित बयान देने लगे हैं।  मिली जानकरी के मुताबिक बताते चले बिहार के बक्सर से निर्दलीय उम्मीदवार रामचंद्र यादव ने विवादित बयान देते हुए कहा कि वे लोकतंत्र की रक्षा के लिए हथियार उठाने को तैयार हैं। रामचंद्र यादव ने हाथ में बंदूक लेकर कहा, “भीम राव अंबेडकर के संविधान की रक्षा के लिए रामचंद्र यादव जैसे करोड़ों नौजवान अपनी आहुति देने के लिए तैयार हैं। हमलोग हथियार उठाने के लिए तैयार हैं, लोकतंत्र की रक्षा के लिए।” निर्दलीय उम्मीदवार के इस बयान से बाद एक बार फिर सियासी भूचाल सा आ गया है ।

पुलिस ने रामचंद्र यादव के घर में की छापेमारी 

इससे पहले रामचंद्र यादव ने कहा कि आखिर ट्रक भरकर ये ईवीएम कहां ले जाए जा रहे हैं. EVM से चुनाव कराने का मतलब क्या है जबकि दुनिया के विकसित देश बैलेट पेपर से चुनाव करवा रहे हैं। उनके इस बयान के बाद बिहार पुलिस तुरंत हरकत में आई और रामचंद्र यादव के घर में छापेमारी की। लेकिन तब तक वह फरार हो चुके थे।

 

Back to top button