क्राइम

फेल करने के बाद बोलता प्रोफेसर- नंबर बढ़वाने हैं तो पूरी करो मेरी हसरत

आये दिन हो रहे अपराधो को रोकने में पुलिस और प्रसाशन नाकाम से दिख रहे है. माहिलाओ के साथ हर दिन कुछ न कुछ बड़ी घटनाये सामने आती है.  कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सरीखा होता है. ज्यादातर ऐसी खबरें रिश्तों को शर्मसार करने वाली होती हैं, जिनके बारे में जानकर सबका सिर शर्म से झुक जाता है. इस खौफनाक मामला ने लोगो को होश उड़ा दिए. आज जिस मामले की बात हम आपको बताते जा रहे इस  मामले ने  रिश्तो की मन मरियादयो को कलंकित कर दिया.

बताते चले ये दिल दहला देने वाला मामला फरीदाबाद के  एक सरकारी कॉलेज से सामने आया है. जहाँ  छात्राओं के यौन शोषण के मामले में हरियाणा महिला आयोग की सदस्य ने कई और हैरान कर देने वाले मामलों का खुलासा किया है. आयोग की एक सदस्य रेणु भाट‍िया का इस घटना पर कहना है कि कॉलेज में छात्राओं के साथ यौन शोषण का यह मामला कोई नया नहीं है. यहां 9 साल से यह जिस्म का रैकेट चल रहा था. इसका मास्टर माइंड एसोसिएट प्रोफेसर जीएम वशिष्ठ है. उसका साथ लैब अटेंडेंट जगदेव सिंह और चपरासी विक्रम दे रहे थे. कई और पुराने मामले अब सामने आ रहे हैं.

जानिए क्या है ममला 

मिली जानकारी के मुताबिक बताते चले यौन शोषण से पीड़ित छात्राओं में से अधिकतर कॉलेज से पासआउट हो चुकी हैं. भाटिया ने दावा किया है कि इस घटना पर पुलिस रिमांड में गिरफ्तार हो चुके चपरासी विक्रम ने कई और हैरान कर देने वाले खुलसे किये है. भाटिया के अनुसार उसने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह लैब अटेंडेंट के कहने पर छात्राओं को बुलाता था. उन्हें विभिन्न तरह का झांसा देकर लैब अटेंडेंट और एसोसिएट प्रोफेसर के कार्यालय में भेजता था.

पुलिस ने किये लैब असिस्टेंट को गिरफ्तार

खबरों की माने तो फरीदाबाद पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शनिवार को कॉलेज के लैब असिस्टेंट को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिनों के रिमांड पर भेज दिया गया. पुलिस द्वारा पूछताछ में लैब असिस्टेंट ने बताया कि कुछ लड़कियों को एग्जाम में अच्छे नंबर देने का लालच देकर यौन शोषण किया गया. इनमें एसोसिएट प्रोफेसर सहित कॉलेज के सीनियर स्टाफ शामिल हैं. प्रोफेसर अभी फरार है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि एसोसिएट प्रोफेसर और उनके कुछ साथियों ने छात्राओं को धमकाया भी है.

बताते चले कॉलेज में छात्रा के साथ मानसिक प्रताड़ना के साथ यौन शोषण के कई पुराने मामले सामने आए हैं. इसमें कुछ 9 साल तो कुछ 2 से 3 साल पुराने हैं. महिला आयोग की सदस्य का दावा है कि छानबीन के बाद ये मामले सामने आए हैं. इनमें अधिकांश छात्राएं पास आउट हैं. पुराने मामलों में पीड़िताओं से संपर्क साधकर उनका बयान लिया जाएगा. .बताते चले आरोपी कॉलेज टूर के बहाने छात्राओं को जयपुर ले जाता था और छेड़छाड़ करता था. पुलिस उससे उन जगहों की निशानदेही कराएगी, जहां वह टूर के दौरान ठहरते थे.

जानिए कैसे हुआ खुलासा 

मिली जानकारी के मुताबिक बताते चले इस घिनौने रैकेट का खुलासा तब हुआ जब एक स्टूडेंट ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें उसने एक ऑडियो-विजुअल रिकॉर्डिंग भी पेश की थी. इसमें कथित रूप से कॉलेज के तीन स्टाफ अच्छे ग्रेड देने का वादा करते हुए लड़कियों का यौन उत्पीड़न कर रहे थे. पुलिस के पास मौजूद रिकॉर्डिंग में लैब असिस्टेंट एक लड़की से बात करता सुना जा रहा था और वह उसे होटल ले चलने के लिए मना रहा था.

Back to top button