ख़बरदेश

शपथग्रहण से पहले आज ही लीजिए जान, इन मंत्रियों के साथ होगी मोदी की दूसरी सरकार

प्रचंड जीत हो गई, 30 मई को शपथग्रहण होने वाली है, फिर बंटेंगी मोदी सरकार की दूसरी पारी में मंत्रियों की कुर्सियां. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे मंत्रिमंडल में कई चेहरे तो पुराने ही होंगे, कई नए चेहरों को भी सरकार में जगह मिलेगी. माना जा रहा है कि भाजपा की सहयोगी पार्टियों जदयू और अन्नाद्रमुक को मोदी की नई मंत्रिपरिषद में शामिल किए जाने की प्रबल संभावना है. इसके अलावा, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में भाजपा के बेहतर प्रदर्शन के कारण इन दोनों राज्यों के पार्टी नेताओं को भी मंत्रिपरिषद में जगह मिल सकती है.

राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर और प्रकाश सिंह जावड़ेकर जैसे पिछले कैबिनेट के वरिष्ठ चेहरे नई कैबिनेट का भी हिस्सा हो सकते हैं. ऐसे कयास जोर पकड़ रहे हैं कि गांधीनगर से विशाल अंतर के साथ जीत दर्ज करने वाले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी नई सरकार का हिस्सा बन सकते हैं. हालांकि, शाह इस मुद्दे पर बोलने से बचते रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ जदयू (JDU) के एक नेता ने कहा कि पार्टी को मंत्रिमंडल में कम से कम एक पद मिलने की संभावना है. सूत्रों ने बतााय कि बीजेपी की एक अन्य सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के मुखिया रामविलास पासवान ने अपने बेटे चिराग पासवान को नई सरकार में शामिल कराना चाहते हैं. सबसे वरिष्ठ सांसदों में से एक राम विलास पासवान पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री थे. उनकी पार्टी एलजेपी ने लोकसभा चुनाव में 6 सीटों पर जीत हासिल की है.

AIADMK इस बार सिर्फ एक ही सीट जीत पाई है लेकिन नई सरकार में उसे एक मंत्री पद दिया जा सकता है क्योंकि वह तमिलनाडु में सत्ता में है और दक्षिण भारत में बीजेपी की प्रमुख सहयोगी है. AIADMK पिछली सरकार में शामिल नहीं थी.

बीजेपी ने पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में इस चुनाव में अपना अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. उसने पश्चिम बंगाल की 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की है. 2014 में उसे यहां सिर्फ 2 सीटें मिली थीं. तेलंगाना में इस बार उसने 4 सीटें जीती हैं. पिछली बार बीजेपी यहां सिर्फ 1 सीट जीत पाई थी. यही वजह है कि नई सरकार में इन राज्यों को ज्यादा प्रतिनिधित्व दिया जा सकता है

Back to top button