खेल

5 मौके जब खुद को सबसे स्मार्ट क्रिकेटर साबित किये धोनी, आखिरी वाला कर देगा हैरान!

पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी को दुनिया के सबसे अच्छे कप्तान के रूप में माना जाता है. उन्हें मैदान पर सबसे चतुर व्यक्ति माना जाता है और उनके फैसले और उनकी कप्तानी में हमेशा टीम इंडिया ने अद्भुत काम किया. इस दौरान उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम और उनकी आईपीएल फ्रेंचाइजी, चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व करते हुए हमें कई शानदार और आश्चर्यजनक क्षण दिए हैं. ऐसे 5 किस्से हम आज इस लेख में जानेगे, जिससे उन्होंने खुद को सबसे चतुर क्रिकेटर साबित किया हैं.

1) बॉल आउट से पहले गेंदबाजों को कराया अभ्यास

India vs Pakistan BOWL OUT at Durban 2007 World Cup - India Won ...

टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप 2007 के पहले लीग मुकाबले में भारत की टीम अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के सामने थी और मैच टाई हुआ था. जिसके बाद बॉल आउट कराने का फैसला लिया. हालांकि, मैच से पहले, भारतीय क्रिकेट टीम के नए कप्तान ने अपने साथियों से मैच से पहले नेट्स में गेंदबाजी का अभ्यास करने के लिए कहा था, क्योंकि उन्हें पता था कि यह नियमों के आड़े आ सकता  है इस निर्णय ने टीम इंडिया के पक्ष में काम कियाऔर  भारत ने बॉल आउट में 3-0 से जीत हासिल की थी.

बॉल आउट के कारण जहां पाकिस्तान ने अपने प्रमुख गेंदबाजों को चुना था उसी मैच के दौरान, एमएस धोनी ने अपने प्रमुख गेंदबाजों के साथ नहीं जाने का फैसला किया क्योंकि उन्हें लगा था कि गेंद थोड़ी स्विंग हो सकती है और फिर स्टंप्स नहीं टकराएंगे. इसलिए, उस मैच में, एमएस धोनी ने हरभजन सिंह के साथ अपने पार्टटाइमर गेंदबाजों, वीरेंद्र सहवाग और रॉबिन उथप्पा के साथ जाने का फैसला किया.

2) महत्वपूर्ण मौको पर ग्लव्स उतारना

This Day That Year: MS Dhoni's electrifying skills shatters ...

एमएस धोनी को दुनिया के सबसे महान कीपर-बल्लेबाज के रूप में माना जाता है. हालांकि, कई बार ऐसा हुआ है जब एमएस धोनी की मौजूदगी और स्मार्टनेस ने टीम इंडिया के लिए चमत्कार करके दिखाया हैं. हालाँकि, यह एक ऐसा क्षण था जिसने महत्वपूर्ण क्षणों के दौरान ग्लव्स उतारने के बाद काम करने के तरीके से सभी को रान कर दिया.

यह क्षण 2016 के आईसीसी टी20 विश्व कप मैच के दौरान बांग्लादेश के खिलाफ हुआ जब टीम बांग्लादेश को अंतिम गेंद पर जीत के लिए केवल दो रन चाहिए थे. इससे पहले कि हार्दिक पांड्या आखिरी गेंद डालने वाले थे, कि  एमएस धोनी ने अपने दाहिने हाथ से ग्लव्स को उतारने का फैसला किया क्योंकि इससे गेंद को पकड़ना उनके लिए आसान हो जाएगा.

सौभाग्य से, इस प्लान ने टीम इंडिया के पक्ष में काम किया क्योंकि बल्लेबाज गेंद को हिट नहीं कर पाया था, लेकिन फिर भी एक रन चुराने का फैसला किया और यह तब हुआ जब एमएस धोनी ने गेंद को पकड़ा और तेजी से दौड़कर स्टंप उखाड़ दिया.

3) बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की फील्डिंग सेट करना

भारत और बांग्लादेश के बीच आईसीसी  क्रिकेट विश्व कप 2019 के अंतिम वार्म-अप मैच के दौरान, मैच में एक शानदार मोड़ आया जब पूर्व भारतीय कप्तान बल्लेबाजी के दौरान बांग्लादेशी गेंदबाज की फील्डिंग लगाने में मदद की.

यह घटना 40 वें ओवर की शुरुआत के दौरान हुई,  एमएस धोनी ने सब्बीर रहमान को रन-अप पर रोक दिया क्योंकि बांग्लादेशी खिलाड़ी एक असामान्य स्थिति में मिड-विकेट और स्क्वायर लेग के बीच घूम रहा था. इस घटना ने कमेंट्रेटरो सहित सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया.

4) जब धोनी ने अंपायर के पीछे लगाया फील्डर

यह आईपीएल 2010 के फाइनल के दौरान हुआ था, मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी कीरोन पोलार्ड अपनी टीम के लिए एक यादगार पारी खेल रहे थे, जब एमएस धोनी ने कीरोन पोलार्ड से निपटने के लिए एक दमदार प्लान बनाया, दरअसल पोलार्ड बार-बार की तरफ शॉट लगाकर रन बना रहे थे.

एमएस धोनी ने अंपायर के पीछे एक फील्डर रखा और इससे किरोन पोलार्ड ने अपनी योजना बदल दी और उन्होंने गेंद को सीधे फील्डर के पास पहुंचा दिया. और इसी तरह से चेन्नई सुपर किंग्स ने अपना पहला आईपीएल ख़िताब जीता.

1) जब पिच के बीच में खलील को डांटा

यह घटना पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध एडिलेड में खेले गए वनडे मैच के दौरान हुई थी. मैच के दौरान टीम इंडिया पर दबाव ज्यादा था क्योंकि वे बड़े टोटल का पीछा कर रहे थे. इस दौरान एमएस और डीके ने ड्रिंक्स ब्रेक के लिए जाने का फैसला किया.

युजवेंद्र चहल और खलील अहमद, धोनी और कार्तिक को पानी देने के लिए बीच में गए. हालांकि, इस दौरान, खलील गलती से पिच पर चला गया और कुछ सेकंड बाद, हम सभी ने देखा कि कैसे एमएस धोनी खलील अहमद को डांट रहे थे. दरअसल इससे पिच ख़राब हो सकती थी और वो भारत के नुकसानदायक हो सकती थी.

Back to top button