धर्म

18 अक्टूबर का पंचांग : जानिए शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

Aaj Ka Panchang: हिंदू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से जाना जाता है. पंचांग के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. मूल तौर पर पंचांग पांच अंगों से मिलकर बना होता है. ये पांच अंग- तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण हैं. जानिए मध्य भारत के ज्योतिषाचार्य शिव मल्होत्रा से आज का पंचांग.

हिंदू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से जाना जाता है. पंचांग के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. मूल तौर पर पंचांग पांच अंगों से मिलकर बना होता है. ये पांच अंग- तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण हैं. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुर्हूत, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, तिथि, करण, नक्षण, सूर्य और चंद्र ग्रह की स्थिति, हिंदू मास आदि की जानकारी देते हैं. आएये जानते हैं. आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय.

18 अक्टूबर 2021 सोमवार: अश्विन शुक्ल पक्ष सूर्योदय त्रयोदशी तिथि शाम 06:07 तक उसके उपरांत चतुर्दशी तिथि.

पंचक प्रारंभ: 15 अक्टूबर शुक्रवार रात 09:16 से पंचक प्रारंभ हो चुके हैं.
पंचक समाप्ति: 20 अक्टूबर बुधवार दोपहर 02:02 तक पंचक रहेंगे उसके उपरांत पंचक समाप्ति.

नक्षत्र: पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र प्रातः 10:50 तक उसके उपरांत उत्तराभाद्रपद नक्षत्र.

राशि: मीन राशि पूर्ण रात्रि तक

शुभ चौघड़िया मुहूर्त (दिन)
अमृत: प्रातः 06:17 से प्रातः 07:43 तक
शुभ: प्रातः 09:10 से प्रातः 10:37 तक
चर सामान्य: दोपहर 01:31 से दोपहर 02:58 तक
लाभ: दोपहर 02:58 से शाम 04:24 तक
अमृत: शाम 04:24 से शाम 05:51 तक

शुभ चौघड़िया मुहूर्त (रात्रि)
चर सामान्य: शाम 05:51 से रात 07:24 तक
लाभ: रात 10:31 से रात 12:04 तक
शुभ: रात 01:37 से रात 03:11 तक
अमृत: रात 03:11 से रात 04:44 तक
चर सामान्य: रात 04:44 से दूसरे दिन प्रातः 06:17 तक

अभिजीत मुहूर्त: दिन के 11:41 से दोपहर 12:27 तक

आज का शुभ अंक: 1, 3 और 8

राहुकाल: प्रातः 07:43 से प्रातः 09:10 तक
(इसमें शुभ कार्य करना निषेध है)

दिशाशूल: आज के दिन पूर्व दिशा यात्रा करने की मनाई है. अगर जाना जरूरी हो, तो घर से दूध पीकर निकलें, कार्य में सफलता मिलेगी.

Back to top button