देश

हादसे में चल बसा बेटा तो बहू को फिर सुहागन बनवा दिए ससुर, संपत्ति भी साथ में दे दी

नरसिंहपुर. मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के एक परिवार की तारीफ प्रदेश के चारों तरफ हो रही है। दरअसल, नरसिंहपुर जिले में एक सोनी परिवार की हर कोई तारीफ रहा है। झौंतेश्वर मवई गांव के डिप्टी रेंजर पद से रिटायर्ड हुए रविशंकर सोनी के बेटे संजय सोनी की एक महीने पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। घर में बहू और दो बच्चियों के सिर से पिता का साया उठ गया। जिसके बाद परिवार में मातम पसरा हुआ था। इसी बीच रविशंकर के एक बड़े साहसिक कदम उठाया। उन्होंने अपने बहू की दूसरी शादी कराने का निर्णय लिया। गुरुवार को इस परिवार ने बहू की विदाई बेटी की तरह अपने घर से की।

बेटे की मौत दुर्घटना में मौत
रविशंकर सोनी ने बताया कि उनके बेटे संजय की शादी 2008 में करेली की रहने वाली सरिता से की थी जिनकी 11 और 9 वर्षीय दो बेटियां है। 25 सितंबर को बेटे संजय की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। ससुर रविशंकर ने बहू के पिता और भाइयों से उसके लिए कोई लड़का ढूंढने को कहा और खुद जाकर भी देखा कि बहू जिस घर जाएगी वह घर उसके लिए योग्य है या नहीं। कई जगहों पर रिश्तों की बात भी की गई लेकिन बात नहीं बनी, अंत में जबलपुर के पास पिपरिया निवासी राजेश सोनी के साथ उसकी शादी करने का फैसला लिया।

रिश्ता तय किया
रविशंकर सोनी बताते हैं कि उनके बेटे की जो कार थी, वह बहू के नाम करा दी है। बेटे की मौत के बाद जो बीमा राशि 3 लाख 76 हजार रुपये मिले, वह भी बहू के नाम जमा करा दी है। जो उनके गहने-जेवर थे वह भी दे दिए हैं और दोनों बच्चियों के नाम से एफडी भी है।

राजेश की पत्नी का भी दुर्घटना में निधन
राजेश सोनी का जबलपुर में ट्रांसपोर्ट और रेस्टोरेंट का कारोबार है। जिनकी पत्नी का करीब 3 साल पहले सड़क हादसे में निधन हो गया था और उसके कोई संतान नहीं है। उनके परिवार में दो भाई भी हैं लेकिन कोई बेटी नहीं है। राजेश कहते हैं कि जब यह रिश्ता आया कि हमें इस बात कि खुशी हुई कि घर में दो बेटियां आएंगी।

Back to top button