देशनौकरी

हल्दी वाले आइस क्यूब बन गए हैं भारी मुनाफे वाला बिजनेस, इन दुकानों पर है खास डिमांड

चेहरे की सेहत को बढ़ाने या स्किेन पोर्स को टाइट रखने के लिए आइस क्यूब का इस्तेमाल होता है, इस बारे में तो आप जानते ही होंगे. हो सकता है कि आपने आइस मसाज के बारे में भी कुछ न कुछ सुना होगा. लेकिन क्या आपने कभी हल्दी आइस क्यूब के बारे में सुना है, अगर नहीं तो आज हम आपको हावड़ा (पश्चिम बंगाल)के अमीत खटुवा के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हल्दी आइस क्यूब बनाकर पैसा कमा रहे हैं.

दरअसल अमित गुलाब जल और खीरे के रस को हल्दी में मिलाकर आइस क्यूब तैयार करते हैं और उन्हें बाजार में बेचते हैं. उनके इस उत्पाद की मांग हावड़ा और आस-पास के शहरों में खूब हो रही है. सैलून संचालकों में भी इसे लेकर खास तरह का उत्साह है, क्योंकि ये वास्तव में त्वचा के लिए असरदार साबित हो रहा है.

सैलून की दुकानों में है खूब मांग

इस बारे में अमित बताते हैं कि हम सभी जानते हैं कि आइस क्यूब से स्किन की सफाई की जाती है. ब्यूटी पार्लर या मेकअप का कोर्स करने वाले लोग जानते हैं कि आइस क्यूब कितनी गहराई से त्वचा को साफ करता है. मैंने बस उसकी शक्ति को कुछ अधिक बढ़ा दिया है.

क्यों है हल्दी वाला क्यूब खास

वास्तव में अमित का हल्दी आइस क्यूब एक कलात्मक सोच का परिणाम है. वो सामान्य आइस क्यूब में गुलाब जल और खीरे के रस को हल्दी के साथ मिलाकर डालते हैं. गुलाब जल और खीरा चेहरे की झुर्रियां, दाग, पिंपल्स और कील मुंहासे को हटाने में सहायक है और हल्दी तो फिर त्वचा के लिए वरदान है.

इस तरह बनाते हैं आइस क्यूब

हल्दी क्यूब बनाने के लिए अमित गुलाब जल और खीरे के रस को हल्दी‍ मे घोलकर बर्फ की ट्रे में डाल देते हैं. अच्छी‍ तरह से जम जाने के बाद प्लास्टिक की थैली में पैक कर, सैलूनों में बेच देते हैं. खास बात है कि अमित खुद ही खीरे औऱ हल्दी की खेती करते हैं. इसलिए कच्चे माल के लिए उन्हें कहीं औऱ भटकना नहीं पड़ता.

क्यों हो रहा है मुनाफा

अमित बताते हैं कि जिस रेट में कंपनियां सामान्य आइस क्यूब बेच रही है, उसी रेट में वो खीरा, गुलाब जल और हल्दी वाला आइस क्यूब बेच रहे हैं. सैलून में ग्राहकों को इसलिए उनकी हल्दी वाली आइस क्यूब खूब पसंद आ रही है. उनके एक क्यूब थैली की कीमत 30 रूपए है, जिसमें 10 क्यूब है.

Back to top button