खेल

हमसफर बने पहलवान बजरंग पूनिया और संगीता फोगाट, इस वचन के साथ शादी में लिये 8वां फेरा

अंतरराष्ट्रीय पहलवान संगीता फोगाट और बजरंग पूनिया बुधवार को परिणय सूत्र में बंध गए। एक रुपए और नारियल के साथ रिश्ता करने वाले द्रोणाचार्य अवार्डी पहलवान महाबीर फोगाट ने बड़ी सादगी के साथ अपनी तीसरे नंबर की बेटी संगीता फोगाट की शादी की। वहीं बजरंग पूनिया भी झज्जर जिले के गांव खुड्‌डन से 31 लोगों की बारात में सिर्फ अपने परिजनों को साथ लेकर संगीता से फेरे लेने पहुंचे। गांव बलाली में हुए शादी समारोह के दौरान सिर्फ फोगाट फैमिली ही मौजूद थी।

समारोह की मुख्य बातें…

  • बजरंग पूनिया करीबन 31 बारातियों के साथ बुधवार देर शाम सवा 8 बजे बलाली पहुंचे।
  • बलाली पहुंचते ही संगीता फोगाट के ताऊ राजेंद्र फोगाट और बजरंग के पिता बलवान सिंह के बीच मिलनी की रस्म अदा की गई।
  • इसके बाद स्टेज पर बजरंग ने संगीता को वरमाला पहनाई। बाद में दोनों परिवारों की मौजूदगी में संगीता ने बजरंग के साथ 8 फेरे लिए। संगीता के पिता पहलवान महाबीर फोगाट ने कहा कि बड़ी बहनों की तरह संगीता ने भी 8वें (बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ) फेरे की रस्म अदा की।
  • दूल्हा पक्ष के 31 और दुल्हन पक्ष के 20 लोगों की मौजूदगी में दोनों ही इंटरनेशनल पहलवानों की शादी पारंपरिक व सादगीपूर्ण माहौल में ही संपन्न हुई। इस दौरान बजरंग के साथ दिल्ली के कनाट प्लेस से महंत विकास शर्मा भी पहुंचे।
  • मेहमानों के लिए बड़ी बहनों की शादी की तरह इस बार भी देशी घी में सभी व्यंजन परोसे गए। इसमें बादाम शेक, केशर युक्त दूध, सरसों का साग, मिस्सी रोटी और देशी घी का चूरमा व अन्य व्यंजन शामिल रहे।

मुंबई से आया रेड टोमेटो कलर का लहंगा पहना संगीता ने
दुल्हन के लहंगों के लिए मुंबई के क्लिक डिजाइनर बुटिक का लहंगा पहनकर संगीता फौगाट पहलवान बजरंग पूनिया के साथ फेरे लिए। लहंगे का कलर रेड टोमेटो है, जिसकी अनुमानित कीमत साढ़े चार लाख रुपए बताई गई हैं। यह संगीता फौगाट के लिए खासतौर पर तैयार किया गया।

एक रुपए और नारियल से हुई शादी की रस्में
पहलवान महाबीर फोगाट ने ने बताया कि लग्न टीके और अन्य सभी रस्मों में एक रुपए व नारियल के साथ हुई। संगीता के कन्यादान में भी एक रूपया और नारियल ही भेंट किया गया है। महाबीर पहलवान ने बताया कि संगीता की बड़ी बहन गीता और बबीता ने 8 फेरे लिए थे। दोनों ने ही 8वां फेरा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देते हुए लिया था। वहीं इसी राह पर छोटी बहन संगीता ने भी बजरंग के साथ 8 फेरे लिए। इसमें 8वां फेरा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सहित दहेज कुप्रथा के खिलाफ लिया।

Back to top button