/** * The template for displaying the header * */ defined( 'ABSPATH' ) || exit; // Exit if accessed directly ?> हथेली का रंग देखकर ही जान लीजिए सामने वाले के सारे राज, जानिए कैसे – JanMan tv
धर्म

हथेली का रंग देखकर ही जान लीजिए सामने वाले के सारे राज, जानिए कैसे

ज्योतिष शास्त्र के अंग हस्तरेखा शास्त्र में मनुष्य की हथेली की रेखाओं को देखकर उसके बारे में जानकारी प्राप्त की जाती है जैसे व्यक्ति का स्वभाव कैसा है, आने वाला समय कैसा रहेगा, किस तरह की कठिनाई का सामना करना पड़ेगा | हथेली में मौजूद रेखाएं, विभिन्न निशान आदि चीजे हमारा भाग्य निर्धारित करती है | अपने भविष्य के बारे में जानने का सबसे आसान तरीका हस्तरेखा शास्त्र को ही माना गया है | हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार सिर्फ हथेली की रेखाएं ही नहीं बल्कि हथेली का रंग भी व्यक्ति के बारे में कई बाते बताता है | आज हम आपको हथेली के रंग से जुडी जानकारी देने आये है तो आइये जानते है आपकी हथेली का रंग आपके बारे में क्या कहता है |

पीला रंग

हस्तरेखा शास्त्र में हथेली का पीला रंग बहुत ही बुरा मन गया है | हस्तरेखा शास्त्र के जानकारों के मुताबिक जिसकी भी हथेली का रंग ऐसा होता उस इंसान की मानसिक शक्ति बहुत ही कमजोर होती है | इन लोगो की सेहत भी अक्सर खराब रहती है |

मटमैला रंग
इन लोगो में अपने काम के प्रति लगन तो बहुत होती है और ये मेहनत भी खूब करते है लेकिन इनको अपनी मेहनत का फल नहीं मिलता है, इन्हे असफलता का सामना बहुत करना पड़ता है | इनके जीवन में संघर्ष, निराशा और गरीबी का भाव रहता है | ऐसे लोग झूठ भी बहुत बोलते है |

कटी फटी और दागदार हथेली
जिन लोगो की हथेली कटी फ़टी होती है, उनके जीवन में धन की कमी बनी रहती है, जिस कारण इनको मनचाही सुख सुविधाएं नहीं मिल पाती है |

सफ़ेद रंग
हथेली का हल्का सफ़ेद रंग आध्यात्म की ओर झुकाव को दर्शाता है, ये लोग बहुत ही शांत किस्म के और पूजा पाठ करने वाले होते है | इनका स्वभाव ही इनकी पहचान होता है |

लाल रंग
हथेली के लाल रंग को शुभ माना गया है, ये माँ लक्ष्मी की कृपा का प्रतीक माना जाता है | इन लोगो के जीवन में धन धान्य की कभी कमी नहीं रहती है, इन्हे समाज में मान सम्मान और प्रसिद्धि भी खूब प्राप्त होती है |

गुलाबी रंग
हथेली का गुलाबी रंग सुख और ऐश्वर्य का प्रतीक है, लेकिन ये लोग बहुत ही संयमहीन होते है जिस कारण जल्दी गुस्सा हो जाते है | साथ ही अपने फायदे के लिए दुसरो की हाँ में हाँ भी मिलते है, पर इन सबके बावजूद ये हमेशा प्रसन्न रहते है |

Back to top button