उत्तर प्रदेश

सीतापुर : पुलिस, प्रशासन की मिलीभगत से सरकारी तालाब पर हो रहा अतिक्रमण !

महोली (सीतापुर)  प्रदेश की योगी सरकार जहां लोगों की जीवन रक्षा का मिशन बनाकर कोरोना महामारी से जूझ रही है। वहीं तहसील के अधिकारी, कोतवाली पुलिस और नगर पंचायत प्रशासन ने आपदा में गोलमाल का बढिया अवसर तलाश कर लिया है। अतिक्रमणकारियों को अभयदान देकर अवैध खनन के जरिए तालाब की पटाई का सुनहरा मौका दे दिया है। इलाके में कोरोना महामारी के चलते पुलिस व तहसील प्रशासन की निष्क्रियता के कारण क्षेत्र में घटनाएं आम बात हो गई हैं। अतिक्रमणकारियों के द्वारा नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग 24 नं पर स्थित तालाब की पटाई पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से शुरू कर दी गई है। जहां तालाब पर कब्जे की नीयत से अतिक्रमणकारियों ने आपदा में अवसर तलाश लिया है। वहीं रात दिन गश्त करने का दावा करनें वाली पुलिस, तहसील और नगर प्रशासन आंख मूंदकर कुंभकरणी नींद में सोया हुआ है।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी गाइडलाइन में तालाब के लिए आवंटित जमीन पर कोई भी व्यक्ति अवैध रूप से अतिक्रमण कर तालाब के स्वरूप में परिवर्तन कर कब्जा करता है या ऐसे अपराधियों को संरक्षण देता हैं वह कानूनन जुर्म है। ऐसे में स्थानीय पुलिस व तहसील प्रशासन की ओर से अतिक्रमण कारियों को अभय दान दिया गया है। सरकार के नुमाइदे रक्षक ही भक्षक बन गये हैं। क्या किसी अनुचित लाभ के वशीभूत होकर तालाब की पटाई करायी जा रही है या तालाब की पटाई से उसके स्वरूप में परिवर्तन कर मोटा माल उड़ाया जा रहा है। तालाब के अवैध कब्जे का कार्य सुबह 4 बजे से शुरू कर दिया जाता है।

अवैध खनन के जरिए ट्रैक्टरों से मिट्टी मंगा कर नगर के दशकों पुराने तालाब की अवैध रूप से पटाई कराई जा रही है और इलाकाई पुलिस गश्त कर रही है। तहसील प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है। सरकार अपराधियों पर अंकुश लगाने की चाहे लाख कोशिशें कर ले पर भ्रष्ट और निकम्में अधिकारियों के संरक्षण में अपराधियों को अवसर मिल ही जाता है। सरकार की कानून व्यवस्था को धता बताकर सरकारी व्यवस्थाओं को विधिवत पलीता लगाया जा रहा है। इस बारे अधिशासी अधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि संदीप अग्रवाल के द्वारा नगर पंचायत के तालाब पर अवैध खनन कर मिट्टी पठान कराया जा रहा था। इसमें शामिल सभी ट्रैक्टर मालिकों ठेकेदारों व संदीप अग्रवाल के विरुद्ध नगर पंचायत प्रशासन की तरफ से मुकदमा पंजीकृत कराया जाएगा।

Back to top button