राजनीति

सिख दंगा मामले में कांग्रेस सांसद की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, गवाह ने की पहचान

सिख दंगा मामले में पूर्व कांग्रेस सांसद सज्जन कुमार की मुश्किल बढ़ सकती है। मामले में गवाह और पीड़िता चाम कौर ने शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सज्जन कुमार की पहचान की। उन्होंने कहा कि यह वही शख्स है जो भीड़ को भड़का रहा था। मामले की अगली सुनवाई 20 दिसंबर को होगी।

जिला जज पूनम ए. बांबा के समक्ष सुनवाई के दौरान सज्जन कुमार और अन्य आरोपी मौजूद थे। चाम कौर ने सज्जन की ओर इशारा करते हुए कहा कि भीड़ को भड़काने वाला शख्स यही है। दंगों से जुड़े एक मामले में दो दोषियों यशपाल सिंह और नरेश सहरावत पर हमले को देखते हुए सज्जन कुमार को भारी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया।

चाम कौर ने कोर्ट में अर्जी देकर कहा था कि उसे गवाही देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी मिल रही है। गवाही नहीं देने पर पैसे की पेशकश की जा रही है। इन परिस्थितियों में उसकी जान को खतरा है। इसलिए उसे पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाए। 

वहीं, केस की मुख्य गवाह शीला कौर ने 7 अगस्त, 2018 को अपने बयान में कहा था कि सुल्तानपुरी में सज्जन कुमार मौजूद थे। उन्होंने दंगाइयों को भड़काया था। इन दंगों में भीड़ ने उसके ससुर बसंत सिंह, पति बलिहार सिंह और देवर बलबीर सिंह की हत्या कर दी थी। 

सज्जन कुमार को भारी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया।

दंगों से जुड़े एक मामले में दो दोषियों यशपाल सिंह व नरेश सहरावत पर बृहस्पतिवार को सिख नेता ने हमला कर दिया था, इसलिए पूर्व सांसद सज्जन कुमार को भारी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया।

पेश मामले में गवाह चाम कौर ने कोर्ट में अर्जी दायर कर कहा था कि उसे गवाही देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी मिल रही है। दूसरी ओर गवाही न देने पर पैसे की पेशकश की जा रही है।

इन परिस्थितियों में उसकी जान को खतरा है, इसलिए उसे पुलिस सुरक्षा मुहैया करवाई जाए। वहीं, केस की मुख्य गवाह शीला कौर ने 7 अगस्त, 2018 को अपने बयान में कहा था कि सुल्तानपुरी में सज्जन कुमार मौजूद थे और उसने दंगाइयों को भड़काया था। इस दंगों में भीड़ ने उसके ससुर बसंत सिंह, पति बलिहार सिंह व देवर बलबीर सिंह की हत्या कर दी थी।

Back to top button