देश

सादे लिबास में निकले थे SSP, हवलदार ने मांग लिया ई-पास, फिर मिला ऐसा ईनाम

रांची
झारखंड में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत 16 से 27 मई तक सार्वजनिक वाहनों का परिचालन बंद है और निजी वाहनों के लिए ई-पास जरूरी है। रांची के वरीय पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा मंगलवार की देर रात सिविल ड्रेस में प्राइवेट गाड़ी से औचक निरीक्षण कर रहे थे। इसी दौरान वे झारखंड-पश्चिम बंगाल सीमा पर मुरी के निकट चेकपोस्ट पर पहुंचे। सीमा पर तैनात झारखंड पुलिस के हवलदार जर्नादन मंडल, एसएसपी को नहीं पहचान सके और उनसे भी ई-पास दिखाने को कहा।

हवलदार ने एसएसपी की गाड़ी आगे जाने के रोकी, मांगा ई-पास
बताया गया है कि एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा पश्चिम बंगाल सीमा पर सादे लिबास में रात साढ़े नौ बजे औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे। वहां स्वर्णरेखा नदी के पुल पर अस्थायी चेकपोस्ट बनाकर वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। हवलदार ने बिना ई-पास के होने पर उनकी गाड़ी को भी आगे जाने से रोक दिया।

हवलदार जर्नादन मंडल को किया गया पुरस्कृत
एसएसपी सुरेंद्र कुमार ने हवलदार जर्नादन मंडल की ईमानदारी, कर्त्तव्यनिष्ठा और सजगता को देख कर काफी खुश हो हए उन्होंने हवलदार को पुरस्कृत करने का ऐलान किया। बुधवार को एसएसपी के आदेश पर ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बुधवार को हवलदार को पुरस्कृत किया।

Back to top button