ख़बरजिंदगी

समुद्र शास्त्र: शरीर का हर तिल खोलता है व्यक्तित्व का राज

शरीर के छोटे-छोटे काले-भूरे चिन्ह को तिल कहते हैं। किसी गोरी महिला के चेहरे पर यदि काला तिल हो तो उसकी सुंदरता में और भी निखार आ जाता है। ऐसा कहा हैं कि गोरे मुखड़े पर काला तिल होने से किसी की हाय या नजर नहीं लगती। तिल से जुड़ी अनेक मान्यताएं हमारे समाज में मुख्य रूप से प्रचलित हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार चेहरे पर या शरीर के विभिन्न अंगों पर तिल होने के अलग-अलग फल प्राप्त होते हैं। शरीर के तिल उस व्यक्ति के स्वभाव के बारे में भी बहुत कुछ बता देते हैं। आइये समुद्र शास्त्र के अनुसार, जानते हैं शरीर के किस भाग पर तिल किस बात का संकेत देता है।

– जिन लोगों की सीधी आंख के नीचे तिल होता है, वे बहुत कामुक प्रवृत्ति के होते हैं। ये लोग प्रेम के मामले में अन्य लोगों से अधिक भावुक होते हैं। साथ ही इन्हें किसी की सहायता करना बहुत अच्छा लगता है।

– जिस व्यक्ति के सीधे हाथ के अंगूठे पर तिल होता है तो वह कार्यकुशल, व्यवहारकुशल और न्यायप्रिय होता है।

-जिस व्यक्ति की दायें तर्जनी उंगली (अंगूठे के पास वाली) पर तिल हो, वह पढ़ाई करने वाला, अच्छे गुणों वाला, धनवान किंतु शत्रुओं से परेशान रहता है।

-यदि किसी व्यक्ति के दाईं आंख के कोने पर तिल है तो वह बहुत भावुक होता है। ऐसे तिल वाले लोग दूसरे से जलन रखने वाले भी हो सकते हैं।

– जिस व्यक्ति की मध्यमा उंगली (सबसे बड़ी) पर तिल होता है, वह व्यक्ति सुखी होता है। उसका जीवन शांतिपूर्ण होता है।

– जिन लोगों की सीधी आंख के नीचे और नाक के पास तिल होता है, वे स्वभाव से कुछ रहस्यमयी होते हैं। इन्हें समझना काफी मुश्किल होता है। ऐसे लोग जासूस या ख़ुफ़िया विभाग या चोर होते हैं |

– यदि किसी व्यक्ति की नाक के प्रारंभिक स्थान पर ठीक बीच में नोक पर तिल हो तो ऐसे लोग कल्पनाशील होते हैं। ये लोग किसी भी कार्य को रचनात्मक ढंग से करना पसंद करते हैं ऐसे लोग साहित्कार,कवि,या कहानीकार होते हैं।

– जिस किसी जातक के बांई आंख के कोने के पास तिल हो, ऐसा व्यक्ति अपने प्रेम के लिए लड़ाई-झगड़ा करने वाला होता है। ये लोग अपने प्रेम पात्र को पाने के लिए कोई अपराध भी कर सकते हैं इन लोगों को दिमागी रोग या मानसिक रोग होता है।

– यदि किसी व्यक्ति की बाईं आंख की पलक पर तिल है तो समझ लेना चाहिए कि वह दिमाग से बहुत तेज है। ऐसे लोग अच्छे कूटनीतिज्ञ होते हैं। कूटनीति के कारण कठिन से कठिन कार्यों में सफलता प्राप्त कर लेते हैं।ऐसे व्यक्ति अधिकतर राजनेता या सफल व्यापारी होतें हैं |

– दाएं गाल पर तिल हो तो उस व्यक्ति में कामुक प्रवर्ती अधिक होती है। कई बार इनका झगड़ा अपने प्रेमी या जीवन साथी से कामवासना को लेकर हो जाता है।

– सीधे हाथ की ओर नाक के ठीक नीचे तिल हो तो व्यक्ति अच्छे उच्च विचारों वाला होता है। साथ ही ऐसे लोग रहस्यमयी भी होते हैं और अपने राज किसी आभास तक नहीं होने देते हैं। वेसे इनका भाग्य बहुत उत्तम होता है।

– किसी व्यक्ति की नाक पर बाएं ओर तिल हो तो वह कलात्मक एवं नियम पुर्वक कार्य करने वाला होता है। ऐसे लोग कई बार अपने काम से लोगों को चौंका देते हैं। इनके कई प्रेम संबंध हो जाते हैं, लेकिन विवाह के उपरांत अपने जीवन साथी के प्रति समर्पित रहते हैं।

– होंठ के ठीक ऊपर दाईं ओर तिल हो तो व्यक्ति अपने सभी कार्य को समर्पण के साथ करता है। ऐसे लोग बुद्धिमान होते हैं और इनकी कल्पना शक्ति प्रबल होती है। एसें लोग अदिकतर कवि या कहानीकार होते हैं|

– जिन लोगों के बाएं गाल पर कान से थोड़ी दूरी पर तिल होता है। उनकी बौद्धिक क्षमता उच्च होती है। इन्हें एक जैसा जीवन पसंद नहीं होता है। समय-समय पर जीवन में बदलाव करना इन्हें पसंद होता है।

– जिन लोगों की दाढ़ी (ठोड़ी) पर तिल हो तो व्यक्ति परंपरावादी होता है। ऐसे लोग परिवार को सुखी रखने का प्रयास करते हैं। अन्य लोगों से इनके संबंध मधुर रहते हैं। वैसे तो ये लोग स्वभाव से शांत रहते हैं, लेकिन कभी-कभी ये अधिक क्रोधी भी होते हैं। ये किसी भी कार्य को पूरी लगन और ईमानदारी के साथ करते हैं।

– होंठ के बांई ओर ठीक कोने में तिल हो तो व्यक्ति कामुक होता है। कामुक स्वभाव के कारण इन्हें जीवन में कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। ऐसा व्यक्ति अपराधिक प्रवृत्ति का होता है सम्भव हे की उस पर बलात्कार जैसे प्रकरण दर्ज हो |

– बाएं पैर में तिल हो तो उस व्यक्ति का खर्च अधिक होता है ऐसे व्यक्ति सदा कंगाल ही रहता है।

– दाहिने पैर में तिल हो तो व्यक्ति बुद्धिमान,कंजूस,और धनवान होता है।

– किसी व्यक्ति की गर्दन पर तिल होता है, तो वह बहुत आराम पसंद होता है और उसे जीवन में आराम मिलता भी बहुत है।ऐसे व्यक्ति पैत्रिक धन पर जीवन व्यतीत करते हैं|

– जिस किसी भी व्यक्ति की नाक पर तिल होता है, उसकी यात्राएं होती रहती हैं। उसे किसी न किसी कारण यात्रा पर जाना पड़ता है। ये व्यक्ति किसी बड़ी कंपनी में बड़े पद पर आसीन होतें हे और प्रतिदिन कई गोष्ठियां करने के कारण एक स्थान पर नही रह पाते।

– दाहिनी हथेली के बीचों-बीच तिल होना व्यक्ति को बलवान बनाता है। यदि आपकी बांई हथेली पर तिल खूब खर्च करने वाला बनाता हैं साथ ही वह व्यक्ति कभी धन से परेशान नहीं होता है।

– यदि किसी व्यक्ति के माथे पर तिल हो तो वह बलवान और ज्ञानी होता है, ज्योतिष शास्त्र के अंतर्गत ऐसी मान्यता है। जिस किसी भी व्यक्ति की ठुड्डी पर तिल होता है वह व्यक्ति अपनी स्त्री से अधिक प्रेम नहीं करता सदा क्लेश करता रहता है।

– यदि किसी की दाहिनी आंख पर तिल हो तो वह अपनी स्त्री से अत्यधिक प्रेम करता है और कोई कितना भी उसकी पत्नी की बुराई करे पर वह अपनी पत्नी को ही सही मानता है।

– तिल यदि बाईं आंख के मध्य पर हो तो स्त्री से कलह होती रहती है। दाम्पत्य जीवन सुखी नहीं रहता संभवतः विवाह विच्छेद हो जाता है।

-कान पर तिल होना अल्पायु या कम आयु होने का चिन्ह है। ऐसे लोग अधिकतम अल्पायु में है पर अपने व्यापार सफल हो जाते हैं।

-तिल यदि बाएं गाल पर हो तो ऐसे व्यक्ति का खर्च बहुत होता जाता है। उसके पास उतना ही धन आ पाता है जितनी उस समय आवश्यकता है।

-यदि किसी व्यक्ति के होंठ पर तिल हो तो उसका मन हमेशा वासना विषयक बातों में लगा रहता है किन्तु शारीरिक अक्षमता रहती है।

-किसी व्यक्ति के यदि दाहिनी गाल पर तिल हो तो वह धनवान होता है। उसे पैतृक संपत्ति भी मिलती है।

-जिस व्यक्ति की कनिष्ठा उंगली (सबसे छोटी) पर तिल हो तो वह व्यक्ति चल-अचल संपत्ति वाला होता है, किंतु उसका जीवन सदा दुखमय ही होता है।

-दाहिनी भुजा पर तिल होना मान-प्रतिष्ठा मिलने का संकेत देता है। ऐसे लोगों को समाज में कई बार मन-सम्मान एवं उच्च स्थान प्राप्त होता है।

-बायीं भुजा पर तिल का होना झगड़ालू होने का संकेत करता है वो व्यक्ति किसी न किसी से रोज झगड़ता ही रहता है।

-दाहिनी छाती पर तिल होना कई स्त्री से प्रेम होने का संकेत करता है। किन्तु वह अपनी पत्नी से भी बहुत प्रेम करते हैं।

-बायीं छाती पर तिल होने से वह व्यक्ति सदा अपनी स्त्री से किसी न किसी बात पर झगड़ा करता रहता है। और संभव हे की वह अपनी पत्नी की हत्या कर दे |

-जिस किसी व्यक्ति की अनामिका (सबसे छोटी उंगली के पास वाली) पर तिल हो तो वह ज्ञानी, यशस्वी, धनी और पराक्रमी होता है। ऐसा व्यक्ति धर्म प्रचारक या संत होता है |

-जिस किसी स्त्री के भौंहो के मध्य में तिल हो तो उस स्त्री का विवाह उच्चाधिकारी से होता है।

– जिस किसी व्यक्ति की दोनों भौहों के मध्य (भ्रकुटी) में तिल हो तो उस व्यक्ति को विदेश यात्रा से लाभ प्राप्त होता है।

-. जिस किसी व्यक्ति के माथे पर दायीं ओर माथे के दायें हिस्से पर तिल हो तो उस के पास सदा धन बना रहता है।

– किसी व्यक्ति के माथे पर बायीं ओर या माथे के बायें भाग पर तिल हो तो  ऐसे व्यक्ति को कोई न कोई पीड़ा जीवन भर बनी रहती है।

-किसी व्यक्ति के दायें पैर के अंगूठे पर तिंल होने का अर्थ है किर वह व्यक्ति समाज में बहुत प्रतिोष्ठि त और संपन्न व्यक्ति् होगा। और बांये पैर के अंगूठे पर तिल होने से उस व्यक्ति को सदा अपमान झेलना पड़ता है|

-यदि पीठ पर तिरल हो तो उस व्यक्तिअ के मनमोजी होने के साथ-साथ धनवान होने का सूचक होता है। ऐसा व्यक्तिा जीवनभर खूब कमाता है और खूब खर्चा करता है।

-जिस किसी की नाक के दायीं ओर तिखल होता है उन्हें अधिक काम नही करना पड़ता और थोडा बहुत ही काम करने मात्र से ही धन का लाभ मि।लता रहता है। यह अत्यंत भाग्यशाली होते हैं।

-जिस किसी की गर्दन पर तिल हो तो वह दीर्घायु, एवं सर्वसुविधा सम्पन्न तथा अपने अधिकारों से युक्त होता है।

– जिस किसी की नाभि पर तिल होने से वह व्यक्ति कामुक प्रकृति का होता है एवं उसे सन्तान के द्वारा सुख प्राप्त होता है।

– जिस किसी स्त्री की कमर पर तिल हो तो वह सुख-सुविधाओं की प्राप्ति करती है।

– किसी स्त्री की पीठ पर तिल हो तो उसका जीवन सभी के सहयोग से चलता है किन्तु उसके पीठ पीछे बहुत बुराई होती हैं।

Back to top button