खेल

संन्यास लेने के बाद मैदान में वापसी किए ये 5 दिग्गज, देखें पूरी लिस्ट

पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने 2019 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था, अब वो रिटायरमेंट से वापसी ले सकते हैं और अगले सत्र में वह पंजाब के लिए घरेलू क्रिकेट खेल सकते हैं.
हालाँकि, यह पहली बार नहीं है जब किसी क्रिकेटर ने अपनी रिटायरमेंट वापसी ली हैं. यहां, इस लेख में, हम आपके लिए 5 क्रिकेटरों की सूची लेकर आए हैं जिन्होंने खेल से संन्यास लेने के तुरंत बाद वापसी की.

5) शाहिद अफरीदी

First 2-3 days were tough but my health is gradually improving Shahid Afridi gives update on COVID-19 battle | Cricket News – India TV

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी के नाम सबसे अधिक बार रिटायर होने का रिकॉर्ड हैं. 2010 में उन्होंने पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास का फैसला किया. दिलचस्प बात यह है कि क्विट करने से एक दिन पहले उन्हें टेस्ट क्रिकेट का कप्तान बनाया गया था. इसके पीछे का कारण खेल के लंबे संस्करण को खेलने में उनकी कमी और अक्षमता थी.

विश्व क्रिकेट 2011 के सेमीफाइनल में पाकिस्तान क्रिकेट टीम का नेतृत्व करने के बाद उनकी दूसरी रिटायरमेंट हुई. मिस्बाह-उल-हक द्वारा पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में कोच वकार के साथ मतभेदों का हवाला देते हुए उन्होंने तीसरी बाद रिटायरमेंट ली थी. हालांकि उन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, लेकिन वह अभी तक खेल के टी20 प्रारूप से संन्यास नहीं ले रहे हैं.

4) केविन पीटरसन

Kevin Pietersen on retiring from cricket: 20 overs of fielding feels like a Test | Sport | The Guardian

2011 में केपी को इंग्लैंड का सबसे महान आधुनिक बल्लेबाज माना जाता था. लेकिन उन्होंने सभी को हैरान करते हुए संन्यास का ऐलान कर दिया था. केपी के ईसीबी और कोच पीटर मूरेस के साथ मतभेद थे. हालांकि, अपनी रिटायरमेंट के कुछ महीनों बाद, केपी ने अपनी वापसी की घोषणा करते हुए कहा कि वह खेल के सभी रूपों में इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेलने के लिए प्रतिबद्ध है. दुर्भाग्य से, ईसीबी के साथ उनका संबंध वास्तव में कभी ठीक नहीं हुआ.

3)  इमरान खान

Imran Khan, the jewel in the crown of Pakistan cricket - cricket - Hindustan Times

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान इमरान खान ने 1987 के विश्व कप के बाद संन्यास का ऐलान कर दिया था. लेकिन पाकिस्तान के राष्ट्रपति  ज़िया उल हक ने उन्हें खेल में वापसी करने के लिए जोर दिया, और इमरान खान ने अंततः वर्ष 1992 में 39 साल की उम्र में वापसी की. उनकी वापसी को क्रिकेट इतिहास की सबसे सफल वापसी माना जाता है. 1992 में ही पाकिस्तान ने इकलौता वनडे वर्ल्ड कप जीता था.

2) कार्ल हूपर

It's a shame': Carl Hooper slams top West Indies players for skipping India tour

कार्ल हूपर क्रिकेट इतिहास में पहले क्रिकेटर हैं जिन्होंने 5000 रन बनाए हैं और 100 विकेट लिए हैं, 100 कैच पकड़े हैं और टेस्ट और वनडे दोनों में 100 मैच खेले हैं. हालाँकि उन्होंने वर्ल्ड कप 2003 से पहले अचानक संन्यास का ऐलान करके सभी को हैरान कर दिया.

जब वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम कठिन समय से गुजर रही थी जब 2001 में हूपर ने संन्यास से वापसी का ऐलान किया. बाद में उन्होंने विश्व कप 2003 में भी अपनी टीम का नेतृत्व किया.

1) जावेद मियांदाद

जावेद मियांदाद को पाकिस्तान का सबसे महान बल्लेबाज के रूप में परिभाषित किया जाता है. उन्होंने कई यादगार मौको पर पाकिस्तान क्रिकेट टीम की कप्तानी की है. मियांदाद के नाम छह विश्व कप में खेलने वाले पहले खिलाड़ी का रिकॉर्ड हैं. मियांदाद वह क्रिकेटर है जिसने सबसे कम समय के लिए संन्यास लिया है. पाकिस्तान की प्रधान मंत्री, बेनजीर भुट्टो ने उन्हें रिटायरमेंट की घोषणा के 10 दिनों के बाद अपनी वापसी के लिए राजी कर लिया था.

Back to top button