देश

शक्तिशाली होकर लौटा कोरोना, अगर दिखें ये लक्षण तो तुरंत कराएं टेस्ट

देशभर में एक बार फिर से कोरोना वायरस ने खतरनाक रूप अख्तियार कर लिया. जहां एक तरफ कोरोना के टीकाकरण का काम जारी है. तो वहीं कोरोना के आंकड़ों में लगातार इजाफा हो रहा है जो लोगों की चिंता बढ़ा रहे हैं. भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने दस्तक दे दी है. लेकिन सुकून की बात ये है कि बढ़ते आंकड़ो के बीच मृत्यु दर लगातार कम हो रही है और अभी मृत्यु दर 1.28% है. देश के अंदर कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यो में महाराष्ट्र पहले स्थान पर है.

दूसरे नंबर पर छत्तीसगढ़ है, जहां एक दिन में पांच हजार से ज्यादा संक्रमितों की पुष्टि हो रही है. तो वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड-19 की दूसरी लहर पहले वाले की तुलना में बेहद गंभीर है.इधर केंद्र सरकार ने चेतावनी दी है कि अगरे चार सप्ताह पूरे देश के लिए संक्रमण को नियंत्रित करने लिए महत्वपूर्ण है. आज आपको कोरोना वायरस की दूसरी लहर में नए लक्षण जो सामने आए हैं उनके बारे में जानकारी बताएंगे.

दअरसल वैज्ञानिकों ने सिम्पटम्स की एक नई लिस्ट जारी की है. कोविड-19 के सामान्य लक्षणों में बुधार, शरीर में दर्द, गंध और स्वाद ना आना, ठंड लगना, सांस फूलना शामिल है. कई रिचर्स में सुझाव दिया जा रहै कि गुलाबी आंखे, गैस्ट्रोनॉमिकल स्थिति और सुनने की क्षमता पर असर को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए. एक स्टडी के  मुताबिक पिंक आईज या आंख आना भी कोरोना संक्रमण का संकेत है. इसमें आखें लाल हो जाती हैं.  सूजन बढ़ने के साथ ही आंखों से पानी आने लगता है. अध्ययन में शामिल संक्रमित प्रतिभागियों में जिन 12 में वायरस पाया गया. उनमें भी गुलाबी आंखें लक्षण देखने को मिला.

कोरोना वायरस संक्रमण शरीर के ऊपरी हिस्सों के अंगों को सबसे अधिक प्रभावित करता है. नए अध्ययन के अनुसार दस्त, उल्टी, पेट में ऐंठन और दर्द कोविड-19 के लक्षण है. अगर कोई पाचन समस्या का सामना कर रहा है. तो इसे हल्के में ना लेकर कोरोना टेस्ट करवाना चाहिए. ये नए सिम्पटम्स किडनी, लिवर और आंतों को नुकसान पहुंचा रहा है.अगर किसी को ठीक से सुनाई नहीं दे रहा है. तो ये भी कोरोना वायरस का लक्षण है. इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ऑडियोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि कोविड-19 संक्रमण सुनने की समस्याओं का कारण बन सकता है. शोधकर्ताओं ने 56 स्टडी में पाया कि कोरोना वायरस, श्रवण और वेस्टिबुलर समस्याओं के बीच संबंध है. उनके अध्ययन में सामने आया कि 7.6 प्रतिशत लोगों ने सुनने की क्षमता से जुड़ी समस्या का सामना किया है. तो ये हैं देश में दस्तक देने वाली कोरोना की दूसरी लहर के लक्षण जिसके बारे आपको जरूर जानना चाहिए. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मास्क पहनना ना भूलें और हाथों को अच्छे से धोएं.

Back to top button