राजनीति

विधान सभा चुनाव: एक से ज्यादा पैन कार्ड के इस्तेमाल पर सख्त हुआ प्रशासन, कलेक्टर ने शुरू की जांच

भोपाल: मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव में नामांकन पत्र के साथ दाखिल शपथपत्र में एक से ज्यादा पैनकार्ड नंबर के इस्तेमाल पर कलेक्टरों ने जांच शुरू कर दी है. धार कलेक्टर ने आयकर विभाग से मनावर से भाजपा प्रत्याशी रंजना बघेल को लेकर की गई शिकायत पर जांच प्रतिवेदन की मांग की है. कांग्रेस के सूचना का अधिकार विभाग के अध्यक्ष अजय दुबे ने चुनाव आयोग में आठ उम्मीदवारों द्वारा बीते तीन चुनाव में अलग-अलग पैनकार्ड नंबर का इस्तेमाल करने की शिकायत की थी.

दुबे ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देश पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने कलेक्टरों से पैन कार्ड समबधि शिकायतों पर प्रतिवेदन मांगा है. इसको लेकर जिला स्तर पर जांच शुरू हो गई है, शिवराज सरकार में मंत्री पारसचंद जैन, अंतर सिंह आर्य और दीपक जोशी द्वारा एक से ज्यादा पैनकार्ड नंबर का उपयोग इन तीन चुनाव में किया गया था. इसी तरह अजय विश्नोई, गिरीश गौतम, देवेंद्र वर्मा और राजेंद्र वर्मा ने भी एक से ज्यादा पैनकार्ड नंबर का उपयोग किया था. शपथ पत्र में दी जानकारी से ही इस बात का पता चला है.

उधर, एमपी इलेक्शन वॉच की संयोजक रोली शिवहरे ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कांताराव को पत्र लिखकर शपथ पत्र अधूरे और स्पष्ट होने साथ ही साफ़ दिखाई न देने की शिकायत की है. 108 प्रत्याशियों के ऐसे मामले में सामने आए हैं, जिनका शपथ पत्र स्पष्ट नहीं है, जिसकी वजह से प्रत्याशियों के शपथ पत्र का विश्लेषण नहीं हो पा रहा है.

Back to top button