क्राइम

विधवा को ब्लैकमेल कर रेप करता पुलिसवाला, रंगे हाथ पकड़ा गया तो थाने में ‘कांड’ कर डाला!

बठिंडा. पंजाब के बठिंडा जिले के गांव बाठ में विधवा महिला से दुष्कर्म करने के आरोप में गिरफ्तार CIA-1 के ASI ने बुधवार देर रात को थाने में खुदकुशी करने की कोशिश की। ASI ने किसी तीखी चीज से गर्दन और हाथ पर हमला करके खुद को मारने का प्रयास किया। घायल अवस्था में उसे नथाना पुलिस ने तुरंत सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया।

ये है मामला

आरोपी ASI गुरविंदर सिंह विधवा महिला से संबंध बनाना चाहता था, लेकिन जब वह नहीं मानी तो आरोपी ने पीड़ित महिला को ब्लैकमेल करने के लिए पहले उसके 20 साल के बेटे पर नशा तस्करी का झूठा केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया और बाद में उसे छोड़ने की एवज में महिला से 2 लाख रुपए की मांग की। एक लाख रुपए लेने के बावजूद उसने बेटे को नहीं छोड़ा और महिला से जबरन शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डाला। इसके बाद उसने महिला से एक बार जबरदस्ती दुष्कर्म भी किया।

इससे परेशान महिला ने पूरे मामले की जानकारी पंचायत को देते हुए मदद की गुहार लगाई, जिसके बाद गांव वालों ने ट्रैप लगाकर आरोपी को रंगे हाथ पकड़ लिया। पुलिसवाले की निर्वस्त्र हालत में वीडियो भी बनाई। इसके बाद गांववालों ने जानकारी एसएसपी बठिंडा को देकर कड़ी कार्रवाई की मांग की। कार्रवाई न करने पर आत्मदाह की धमकी दी। पीड़ित महिला का मेडिकल करवाने के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376 के तहत दुष्कर्म का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी भूपिंदरजीत सिंह विर्क ने बताया कि आरोपी को बर्खास्त कर दिया गया है।

पहले समझाया, नहीं माना तो घर में लगवाए कैमरे, ताकि पकड़ सकें

गांव मानसा खुर्द के निवासी भोला मान ने बताया कि पीड़ित महिला ने उन्हें ASI की हरकतों के बारे में बताया। इस पर उन्होंने 20 दिन पहले फोन कर समझाया तो आरोपी ने गालियां दीं। इसके बाद उन्होंने दोस्त शेर सिंह तुंगवाली को बताया और महिला की मदद का फैसला किया। मंगलवार सुबह 8 बजे ASI द्वारा रात को आने की बात जब पीड़ित महिला ने बताई तो उन्होंने गांव बाठ की पंचायत के सरपंच कुलविंदर सिंह व पूर्व सरपंच थाना सिंह प्लानिंग बनाई।

इसके बाद महिला के घर में कैमरे लगा दिए और दरवाजे की कुंडी मोड़ दी ताकि वह बंद न कर सके। रात 11.05 पर ASI आया तो 5-7 लोग कमरे में छिप गए। यह सारा वाक्या भोला सिंह व सहयोगी मोबाइल पर देख रहे थे। उन्होंने करीब 20 मिनट बाद घर में प्रवेश कर दरवाजा खोल दिया ताकि ASI को मौके पर पकड़ सकें। गांव वालों ने वीडियो पुलिस अधिकारियों को देते हुए कहा कि अगर कार्रवाई नहीं हुई तो आत्मदाह कर लेंगे।

इलाज के लिए रखे 60 हजार भी छीन लिए थे

मैं बठिंडा के एक गांव की रहने वाली हूं। मेरे पति की कुछ समय पहले मौत हो गई, मेरा एक 20 साल का बेटा है। अारोपी ASI पिछले 3 माह से मुझ पर गलत नजर रखता था और अक्सर छेड़खानी भी करता था। उसने संबंध बनाने की बात कही तो मैंने मना कर दिया। इससे उसने धमकी दी और बीती 6 मई को कुछ पुलिसकर्मियों को साथ लेकर मेरे घर में छापामारी कर मेरेे 20 साल के बेटे को उठा लिया और नशा रखने का केस दर्ज कर लिया। जबकि, बेटा कोरोना पॉजिटिव था और घर में आइसोलेशन में था।

बेटे को छोड़ने के लिए आरोपी पैसों की मांग करने लगा। एक दिन वह घर आया व लड़के के उपचार के लिए रखे 60 हजार रुपए छीनकर ले गया। फिर बोला- लड़के को छुड़वाना है तो 2 लाख रुपए का इंतजाम कर ले। मैंने रिश्तेदारों से 1 लाख रुपए लेकर दे दिए, लेकिन इसके बाद भी आरोपी ने लड़के को नहीं छोड़ा और शारीरिक संबंध बनाने की मांग करने लगा। गत दिवस आरोपी ने मुझे डरा धमकाकर दुष्कर्म किया।

Back to top button