खेल

वाशिंगटन सुंदर ने पिता ने सिराज और ईशांत को सुनाई खरी-खोटी… जानें क्या है वजह !

वाशिंगटन सुंदर के पिता एम सुंदर ने अपने बेटे के इंग्लैंड के खिलाफ भारत की हालिया टेस्ट सीरीज में कई बार नाबाद रहने के बावजूद अपने बेटे को पहले टेस्ट में नहीं मिलने के बाद खुश नहीं थे. एमए चिदंबरम स्टेडियम में शुरूआती टेस्ट में, बाएं हाथ के सुंदर 138 गेंदों पर 85 रन बनाकर नॉट आउट रहे, जिसमें भारत का नंबर 9, 10, और 11 उन्हें बहुत समर्थन देने में असमर्थ रहे.

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में चौथे और अंतिम टेस्ट में भी कुछ अलग नहीं था. भारत की पहली पारी में, उन्होंने नाबाद 96 रनों की पारी खेली. ईशांत शर्मा और मोहम्मद सिराज अपना खाता नहीं खोल सकते थे, जिसके कारण वह शतक से चूक गए थे. ईशांत शर्मा एलबीडब्ल्यू आउट हुए जबकि सिराज बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में कीपर को कैच थमा बैठे और सुंदर नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े रह गए थे.

वाशिंगटन सुंदर के पिता ने एक न्यूज़ चैनल से बातचीत के दौरान कहा, “मुझे ये नहीं समझ आ रहा है कि लोग उसकी बल्लेबाजी देखकर इतने हैरान क्यों है. मैं सुन रहा हूं कि वह नई गेंद का सामना कर सकता था. मैं बताना चाहता हूं कि वह किसी भी जगह बल्लेबाजी करने को तैयार है.”

आगे उन्होंने कहा, “मुझे जिस बात से सबसे अधिक दुःख  पहुंचा वह यह कि हमारे अंतिम कुछ बल्लेबाज ज्यादा देर क्रीज पर टिक नहीं पाए. सोचिए यदि भारत को जीत के लिए 10 रन चाहिए होतेतो यह कितनी बड़ी गलती होती. आपको करोड़ों युवा देख रहे हैं हालाँकि वह इससे कुछ नहीं सीख सकते.”

; “यह केवल टेक्निक और स्किल की बात नहीं है. इंग्लैंड की टीम काफी थकी हुई थी और स्टोक्स 123-126 की गति से गेंदबाजी कर रहे थे.”

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गाबा टेस्ट से डेब्यू करने वाले वाशिंगटन सुंदर ने अब तक अपने छोटे करियर में खेले 4 टेस्ट की 7 पारियों में 66.25 की औसत और 3 अर्द्धशतको की मदद से 265 रन बनाए हैं, इस आलावा उन्होंने 6 खिलाड़ियों को आउट करके पवेलियन भी भेजा.

Back to top button