उत्तर प्रदेशजरा हट के

वाराणसी : प्रधान पद का चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी की हत्या, बदमाशों ने मारी सात गोलियां

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के बीच रंजिशन वारदात की खबरें भी आ रही हैं। ऐसा ही एक मामला वाराणसी का है। यहां लगातार तीन बार प्रधान रहे शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक इस बार भी चुनाव लड़ रहा था। वारदात की वजह चुनावी व निजी रंजिश मानकर पुलिस जांच में जुटी है। जानकारी के अनुसार, मृतक इलाकाई थाने का हिस्ट्रीशीटर था। तीन टीमें बनाकर पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

घात लगाकर मारी गई ताबड़तोड़ गोली

यह वारदात थाना बड़ागांव क्षेत्र अंतर्गत लोकापूर ईंट-भट्टे के पास की है। इंद्रपुर गांव निवासी पप्पू यादव उर्फ बृजेश यादव शनिवार रात क्षेत्र में जनसंपर्क करने के बाद अपने घर लौट रहा था। तभी सैरा गांव के पास घात लगाए बदमाशों ने उसे गोली मार दी और भाग निकले। इसके बाद उसे तत्काल थाना सिगरा के मलदहिया स्थित सिंह हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत नाजुक देख डॉक्टरों ने BHU रेफर कर दिया। परिजन उसे लेकर BHU के ट्रामा सेंटर पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने उसे वहां मृत घोषित कर दिया।

गांव में पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किया गया है। उच्चाधिकारी और स्थानीय पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया। परिजनों ने बताया कि गांव के ही अनिल यादव उर्फ भूषि यादव पर भूमि विवाद के कारण रंजिशन गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाया है। परिजनों की तहरीर पर अनिल यादव को नामजद करते हुए केस दर्ज किया गया है। नामजद अभियुक्त अनिल भी थाने का हिस्ट्रीशीटर अपराधी है।

मृतक पूर्व प्रधान बड़ागांव थाने का था हिस्ट्रीशीटर
पुलिस ने बताया कि पप्पू ने कम समय में ज्यादा नाम व शोहरत कमा ली थी। उसने प्रधानी के साथ ही प्रॉपर्टी डीलिंग के भी काम को करने लगा था और कुछ दिन पूर्व ही उसने एक विवादित संपत्ति खरीदी थी। जिसे खरीदने के बाद से ही वह थोड़ा परेशान रहता था। मृतक बड़ागांव थाने का हिस्ट्रीशीटर भी था। मृतक पप्पू यादव व उसकी पत्नी ममता यादव 2005 से लगातार प्रधान थीं। जिसमें 2005 में पहली बार पप्पू यादव प्रधान पद के लिए चुना गया था। उसके बाद से लगातार उसकी दो बार उसकी पत्नी ममता यादव ग्राम सभा की प्रधान थीं और इस बार वह खुद चुनाव लड़ रहा था।

जल्द आरोपियों को पकड़ा जाएगा

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अमित वर्मा ने बताया कि पूर्व प्रधान पप्पू यादव की हत्या में नामजद केस दर्ज किया गया है। बदमाशों की धरपकड़ के लिए तीन टीमें गठित की गई है। जल्द ही आरोपियों को पकड़कर घटना का अनावरण किया जाएगा। मृतक व नामजद दोनों अपराधी प्रवृत्ति के थे।

Back to top button