सेहत

लेडीज अटेंशन! आप में से 90 फीसदी करती हैं पीरियड्स में ये 5 गलतियां

पीरियड्स के दौरान औरतों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं, उन नसीहतों की लिस्ट बहुत लंबी है. मां ने कुछ बता दिया. दादी ने कुछ बता दिया. दीदी ने कुछ बता दिया. और हम लगे उसे मानने. दुख की बात ये है कि इनमें से ज्यादातर नसीहतें महज गलतफहमियां होती हैं. दरअसल, जो गलतियां औरतों को पीरियड्स के दौरान नहीं करनी चाहिए, उनके बारे में तो उनको पता ही नहीं होता. और ये गलतियां बहुत ही आम हैं. इनमें से कई तो आप भी करती होंगी. तो जान लीजिए वो कौन-कौन सी हैं:

1. पीरियड्स के दौरान सही मात्रा में आयरन न खाना

पीरियड्स के दौरान शरीर से काफी खून बहता है. ब्लड लॉस होता है. इसलिए औरतों में ज्यादातर अनेमिया की दिक्कत रहती है. अनेमिया मतलब खून में हीमोग्लोबिन की कमी होना. और ये इसलिए होता है क्योंकि उनके शरीर में आयरन की कमी होती है. ये सब तो ठीक है. पर आयरन की वजह से क्या होता है?

आपको बहुत ज्यादा थकान महसूस होती है. डिप्रेशन महसूस होता है. इसलिए पीरियड्स के दौरान वो चीज़ें खाना बहुत ज़रूरी होता है जिनमें आयरन भरपूर मात्रा में होता है. जैसे लाल मांस, अंडे, बींस, हरी सब्जियां जैसे पालक वगैरह.

2. पेनकिलर क्रैम्प शुरू होने के बाद खाना

हम अक्सर यही करते हैं. जब तक दर्द अपनी चरम सीमा तक नहीं पहुंच जाता तब तक हम पेनकिलर नहीं खाते. ये नहीं करना चाहिए. अगर आप दर्द शुरू होने के बाद पेनकिलर खाती हैं तो वो कम असर करता है. उल्टा यही अगर आप उनको पहले खा लें तो वो ज़्यादा असर करेगा. इसका ये मतलब नहीं कि आप टॉफी की तरह दवाइयां खाएं. पर अगर आपको पता है हर बार पीरियड्स के दौरान आपकी बैंड बज जाती है तो पहले से ही तैयार रहिए. क्योंकि जब कम दर्द हो रहा है तो उसे कंट्रोल करना ज़्यादा आसान होता है. कुछ डॉक्टरों का ये भी मानना है कि अगर आपका पीरियड साइकिल रेगुलर नहीं है तो आप अंदाजे से अपने पीरियड शुरू से एक, दो दिन पहले ही दवाई खा लें.

3. खुशबू वाले सेनेटरी पैड्स यूज़ करना

बहुत सी औरतें पीरियड्स के दौरान आने वाली स्मेल से कम्फर्टेबल नहीं फील करतीं. उन्हें शर्मिंदगी महसूस होती है. इसलिए वो ऐसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं जिनमें खुशबू आती है. जैसे खुशबू वाले सेनेटरी पैड्स. इन सेनेटरी पैड्स को ये खुशबू केमिकल्स की मदद से मिलती है. अगर वो केमिकल्स आपकी वजाइना के आसपास भी होंगे तो आपको इन्फेक्शन का डर है. आपको खुजली के साथ-साथ खाज की दिक्कत भी हो सकती है. यही नहीं. कुछ औरतें वजाइना साफ करने के लिए खास वॉश का भी इस्तेमाल करती हैं. ये सही नहीं है. वजाइना खुद को साफ रख सकती है. उसका एक pH लेवल होता है, जिसकी मदद से वो इन्फेक्शन से लडती है. पर अगर आप कोई केमिकल से लेस खुशबू वाला वॉश इस्तेमाल करेंगें तो वो वजाइना के pH लेवल से खेल हो जाएगा.

इसलिए अगर खुद को साफ करना है तो केवल पानी का ही इस्तेमाल करिए.

4. पीरियड ब्लड पर ध्यान न देना

जब आप अपना इस्तेमाल किया हुआ पैड फेंकती हैं तो उसे देखती भी नहीं. हैं न? पर ये गलत है. पीरियड ब्लड पर ध्यान देना ज़रूरी है. आपका ब्लड बताता है कि आपकी सेहत कैसी है. खून तो गहरा लाल होना चाहिए. कभी कभार अगर क्लॉटिंग भी हो रही है तो कोई बात नहीं. ये नॉर्मल है. पर अगर खून नारंगी रंग का आने लगे तो फौरन किसी डॉक्टर से मिलिए. साथ ही अगर क्लॉटिंग ज़्यादा हो रही है तो डॉक्टर से ज़रूर मिलिए. बिना देर किए. क्योंकि इसका मतलब है आपको कोई इन्फेक्शन हो रखा है.

5. कम पानी और ज़्यादा कॉफी पीना

कॉफी पीना हममें से कई लोगों को पसंद होता है. सुबह ऑफिस में बैठे हैं पर आंख नहीं खुल रही तो कॉफ़ी पी ली. देखिए, कॉफी में कैफीन होता है. और उसकी वजह से होता है डिहाइड्रेशन. मतलब शरीर में पानी की कमी. इसका नतीजा ये होता है कि आपको पीरियड्स क्रेम्प्स होते हैं. और उनमें कितना दर्द होता है वो आपको बताने की ज़रूरत नहीं है. यही नहीं. कॉफी की वजह से आपको एंग्जायटी भी रहती है और पीरियड्स के दौरान काफी बेचैनी भी. उल्टा इस समय आपको ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीना चाहिए. इससे शरीर में सूजन भी ठीक होती है.

Back to top button