उत्तर प्रदेश

लखनऊ सहित प्रदेश में एक दर्जन नए सीएनजी स्टेशनों को मिली हरी झंडी

सीएनजी वाहनों से एक शहर से दूसरे शहर का सफर करना जल्द ही आसान होगा। पूरे प्रदेश में सीएनजी और पीएनजी नेटवर्क का मजबूत जाल बिछाया जाएगा। यूपी में 222 और नए सीएनजी स्टेशन खोले जाएंगे। 22 नवंबर से इसकी शुरुआत हो रही है। 

इंडियन ऑयल के राज्य समन्वयक एके गंजू ने सिटी गैस वितरण योजना के बारे में जागरण को बताया कि पीएम मोदी 22 नवंबर से इसकी शुरुआत कर रहे हैं। यूपी के हिस्से में बड़़ा लक्ष्य है। अधिकांश शहरों में इसी दिन से काम की शुरुआत हो जाएगी। इससे न केवल पर्यावरण में सुधार होगा बल्कि रोजगार के तमाम अवसर भी पैदा होंगे।

सार्वजनिक परिवहन को मिलेगी रफ्तार

रायबरेली, फैजाबाद और सुल्तानपुर सहित प्रदेश के 26 और शहरों में सीएनजी और पीएनजी की सुविधा के लिए काम शुरू होगा। इससे सबसे बड़ा प्रभाव सार्वजनिक यातायात पर पड़ेगा। सीएनजी के विस्तार से बसों का संचालन आसान होगा जिसका सीधा असर पर्यावरण पर पड़ेगा। 

पांच वर्षों में 2700 करोड़ निवेश, हजारों को रोजगार

अगले पांच वर्षों में नौ भौगोलिक क्षेत्रों में करोड़ का निवेश होगा। ढाई हजार से अधिक कुशल लोगों को रोजगार मिलेगा। तमाम दूसरे क्षेत्रों को इससे फायदा होगा।

लखनऊ में एक दर्जन स्टेशन और

राजधानी में भी एक दर्जन और नए स्टेशन खोलने को हरी झंडी दिखा दी गई। डीजीएम एमके अवस्थी के मुताबिक मौजूदा समय में 23 स्टेशनों में 19 चल रहे हैं। चार स्टेशन तेल चोरी पकड़े जाने के चलते बंद चल रहे हैं।

पचास हजार पीएनजी कनेक्शन

ग्रीन गैस के एमडीए जिलेदार ने बताया कि लखनऊ में अगले साल तक पचास हजार कनेक्शन का लक्ष्य है। पूरे प्रदेश में करीब साढ़े सात लाख पीएनजी कनेक्शन का लक्ष्य रखा गया है। 

कहां कितने सीएनजी पंप खुलेंगे

  1. बुलंदशहर, अलीगढ़ और हाथरस : 46
  2. प्रयागराज, भदोही और कौशांबी : 24
  3. अमेठी, प्रतापगढ़ और रायबरेली : 20
  4. औरेया, कानपुर देहात और इटावा : 27
  5. गोरखपुर, संतकबीरनगर और कुशीनगर : 36
  6. मेरठ, मुजफ्फरनगर और शामली : 36
  7. मुरादाबाद क्षेत्र : 27
  8. फैजाबाद और सुल्तानपुर : चार
  9. उन्नाव : दो

इन शहरों में जल्द मिलेगी सुविधा

फैजाबाद, सुल्तानपुर, रायबरेली, प्रतापगढ़, इलाहाबाद सिटी, शामली, मुजफ्फरनगर, मेरठ, मुरादाबाद , अलीगढ़, मथुरा, बुलंदशहर, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, उन्नाव जिला, कौशांबी, कुशीनगर, संतकबीरनगर, हाथरस, संतरविदास नगर और गोरखपुर।

पहले से मिल रही सुविधा

लखनऊ, कानपुर, सहारनपुर, बागपत, गाजियाबाद, बरेली, मेरठ सिटी, मथुरा सिटी, फिरोजाबाद, वाराणसी नगर, झांसी और नोएडा।

Back to top button