क्राइम

लखनऊ: लॉकडाउन में जारी था गंदा धंधा, ऐसे पकड़ा गया सबसे बड़ा सेक्स रैकेट

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में धड़ल्ले से जिस्मफरोशी का कारोबार फल फूल रहा है। कई बार पुलिस ने छापेमारी की लेकिन यह धंधा तेजी से फैलता जा रहा है। शुक्रवार को चिनहट पुलिस ने छापेमारी कर बड़े सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है। छापेमारी के दौरान सेक्स रैकेट का मास्टरमाइंड विवेक, उसका दोस्त आशा मोहम्मद और असम की रहने वाली पांच लड़कियों को गिरफ्तार किया गया है। यह गिरोह पहले ग्राहकों को व्हाट्सएप पर लड़कियों की फोटो भेजता था, फिर ग्राहक जिस लड़की को पसंद करते थे उसे ग्राहक के पास भेजा जाता था।

एसीपी विभूति खंड प्रवीण मलिक के अनुसार, गोंडा का रहने वाला विवेक बीते कुछ सालों से सेक्स रैकेट चला रहा था। इसमें उसके कई और दोस्त भी शामिल हैं। सेक्स रैकेट का सरगना विवेक असम से लड़कियों को लाकर राजधानी लखनऊ में देह व्यापार करवा रहा था। एसीपी के मुताबिक इस गिरोह में विवेक के कई और साथी भी शामिल हैं जिनकी पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है।

होटल और घर का अलग-अलग था रेट

एसीपी विभूति खंड प्रवीण मलिक ने बताया कि गिरोह का सरगना विवेक जिन लड़कियों को लाया था उनमें से ज्यादातर लड़कियों की शादी टूट चुकी थी। एसीपी के मुताबिक ग्राहकों से लड़कियों की सर्विस के लिए अलग-अलग रेट तय किया जाता था। घर का अलग रेट होता था और होटलों का अलग।

5 से 50 हजार लगाता था रेट
पुलिस के मुताबिक 5 हजार से लेकर 50 हजार तक रुपए ग्राहकों से लिए जाते थे। ग्राहकों को पहले व्हाट्सएप पर लड़कियों की तस्वीर भेजी जाती थी फिर ग्राहक जिस लड़की को पसन्द कर लेता था तो उसे वहां भेज दिया जाता था।

Back to top button