क्राइम

रौड़ा बुड्ढे के नैन-मटक्के का था.. छटांक भर अफीम के लिए..फरीदाबाद पुलिस के ट्वीट्स का जमाना दीवाना!

फरीदाबाद
60 मार्का मर्डर केस, बुढ़िया ने बुड्ढे को बुढ़िया के लिए बुड्ढे से मरवाया। रौड़ा बुड्ढे के नैन-मटक्के का था…। इस लाइन को बढ़कर हर कोई एक बार जरूर सोचता होगा कि ये कैसी भाषा है? लेकिन हरियाणा की फरीदाबाद पुलिस इसी तरह से क्राइम अलर्ट देती है। सटीक, शुद्ध और एकदम हरियाणावी टच देते हुए। दरअसल फरीदाबाद पुलिस अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इसी तरीके से ट्वीट करके जिले में होने वाले क्राइम की डीटेल देती है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर फरीदाबाद पुलिस की जमकर तारीफ भी होती है।

फरीदाबाद पुलिस ने गुरुवार को 60 मार्का मर्डर केस का खुलासा किया। पुलिस ने हत्या के आरोपी को भी अरेस्ट कर लिया। इसके बाद पुलिस ने ट्वीट कहा, ‘बुढ़िया ने बुड्ढे को बुढ़िया के लिए बुड्ढे से मरवाया। सुपारी देने वाली खुद की चंट लुगाई 64 की। सुपारी खानेवाला अभागा घरवाला 67 का। सुपारी लेने वाला टकला 62 का। पीटर गैल बुड्ढे को नहर में गेर आया। रौड़ा बुड्ढे के नैन-मटक्के का था।’

फरीदाबाद पुलिस हमेशा इसी तरीके से ही ट्वीट करती है। पुलिस ने अपने अगले ट्वीट में कहा, ‘भीमकाय विजय और रविंद्र ने छटांक भर अफ़ीम के लिए ढोया डेढ़ सौ किलो चोरी का नट-वोल्ट। गाड़ी चुराने और मार-धाड़ में भी गहरी रुचि। इससे आधा जोर भी अगर मनरेगा में लगा लेता तो बच्चे पल जाते, बीवी बलाएं लेती और खुद भी ढंग से जी-मर लेता। लेकिन कुत्ते की पूंछ टेढ़ी की टेढ़ी। #बावड़ी_बूच’

फरीदाबाद पुलिस के रोचक ट्वीट कुछ इस तरह से हैं:-

 

Back to top button