देश

रूसी वैक्सीन की कीमत पर सस्पेंस खत्म, जानिए कितने की पड़ेगी Sputnik V की एक डोज

नई दिल्‍ली
रूसी कोरोना वायरस वैक्‍सीन स्‍पूतनिक V की कीमत पर सस्पेंस खत्म हो गया है। डॉक्टर रेड्डी लेबोरेटरीज ने इसकी कीमत का ऐलान कर दिया है। भारत में इस रूसी वैक्सीन को बनाने वाली इस कंपनी के मुताबिक स्पूतनिक V की कीमत 948 रुपये प्लस 5% जीएसटी होगी। इसका मतलब है कि 948 रुपये के अलावा इस पर 5% जीएसटी यानी 47.40 रुपये जीएसटी चार्ज किया जाएगा। इस तरह एक डोज 995.40 रुपये की पड़ेगी।

स्पूतनिक तीसरी ऐसी कोविड-19 वैक्‍सीन होगी, जिसे भारत में इस्‍तेमाल किया जाएगा। लोगों को इसकी डोज लगाने की शुरुआत कब से होगी, इसपर स्थिति साफ नहीं है। स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन की पहली खेप 1 मई को ही भारत पहुंच चुकी थी। ऐसे वक्‍त में, जब भारत में रोज 3 लाख से ज्‍यादा केस और 4 हजार से ज्‍यादा मौतें हो रही हैं, किसी वैक्‍सीन को रोककर रखना समझ से परे है। मगर इसकी एक वजह है ताकि जब वैक्‍सीन आपके लिए उपलब्‍ध हो तो यह सुनिश्चित हो सके कि वह पूरी तरह सुरक्षित है।

अबतक क्‍यों नहीं लगाई गई है स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन?

स्‍पूतनिक वी के पहले बैच में डेढ़ लाख डोज शामिल थीं। प्रोटोकॉल के अनुसार, किसी भी इम्‍पोर्टेड वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल से पहले लैब में उनकी टेस्टिंग की जाएगी। केंद्र सरकार ने कहा था कि वैक्‍सीन के हर बैच की पहले कसौली स्थित सेंट्रल ड्रग्‍स लैबोरेटरी (CDL) में जांच होगी, उसी के बाद उसे नैशनल कोविड-19 वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम में यूज किया जा सकेगा। लैब में यह जांचा जाएगा कि वैक्‍सीन सुरक्षित, असरदार और किसी भी तरह के अन्‍य संक्रमण से मुक्‍त है।

एक बार CDL से अप्रूवल मिलने के बाद, डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज (जिसे यह वैक्‍सीन इम्‍पोर्ट करने की अनुमति मिली है) केवल 100 लोगों को स्‍पूतनिक वी वैक्‍सीन की डोज देगी। वैक्‍सीन का सेफ्टी डेटा सेंट्रल ड्रग्‍स स्‍टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) को सबमिट किया जाएगा।

CDSCO के एक्‍सपर्ट्स इस डेटा का रिव्‍यू करेंगे और उसके बाद कंपनी को वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल की अनुमति देंगे। केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार, भारत में वैक्‍सीन के इमर्जेंसी यूज का अप्रूवल ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) देंगे।

Back to top button