उत्तर प्रदेश

योगीराज में बीजेपी विधायक की सुनती ही नहीं पुलिस, थाने जाकर दे दिये धरना

प्रयागराज
प्रयागराज की बारा सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक शंकरगढ़ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ धरने पर बैठ गए। धरने पर बैठे बीजेपी विधायक अजय कुमार का आरोप है कि निर्मला और किरण नाम की महिला को कुछ दिनों पहले वन विभाग के कर्मचारियों ने बेरहमी से पीटा था। इस बात की शिकायत प्रयागराज के शंकरगढ़ थाने में की गई लेकिन मामले में थानाध्यक्ष ने कोई कार्रवाई नहीं की। यही नहीं, भगवान दीन नाम के शख्स को बगैर किसी जूडिियशल रिमांड के पिछले 24 घंटे से थाने में बैठाया गया है। धरने पर बैठे विधायक का कहना है कि इन मामलों को लेकर जब उनके द्वारा थानाध्यक्ष से बातचीत की गई तो उनके साथ भी बदसलूकी की गई। इसके बाद वह ग्रामीणों के साथ थाना परिसर में ही संबंधित थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए।

प्रयागराज के शंकरगढ़ इलाके में मवैया की रहने वालीं निर्मला देवी ने शंकरगढ़ थाने में 10 अक्टूबर को एक लिखित शिकायत पत्र देते हुए वन विभाग के दारोगा उदय भान सिंह पर मारपीट का आरोप लगाया। पुलिस ने महिला की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया। पीड़ित महिला का आरोप है कि कई दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस आरोपी वन विभाग दारोगा के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही। इसी बात से नाराज महिला, बीजेपी विधायक और कई लोगों के साथ शंकरगढ़ थाने में धरने पर बैठ गए।

तब जाकर धरना हुआ समाप्त
मामले में पुलिस विभाग ने अपनी रिपोर्ट वन विभाग के अधिकारियों तक पहुंचा दी और वहां से इजाजत का इंतजार कर रहे हैं ताकि आरोपी दारोगा के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। धरने पर बैठे विधायक को समझाने के लिए उपजिलाधिकारी बारा सुभाष चंद्र यादव ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का आश्वासन देते हुए धरने को समाप्त कराया। इस मामले में वन विभाग के लोगों का कहना है कि महिला सरकारी भूखंड जमीन पर रह रही हैं और अपने मकान के दायरे को आगे बढ़ाकर अवैध निर्माण करवा रही थीं, जिस पर दारोगा ने उन्हें ऐसा ना करने की हिदायत दी थी। आरोपी दारोगा ने महिला के आरोपों को निराधार बताया है।

Back to top button