ख़बरसेहत

ये खबर पढ़ने के बाद आप कभी पैर क्रॉस करके नहीं बैठेंगे

बैठने के सबसे आम तरीकों में से एक है पैर क्रॉस करके बैठना. यह महिलाएं कुछ ज्यादा करती हैं,  हालांकि कई पुरुष भी हैं, जो अपने पैरों को क्रॉस करके बैठते है. लेकिन इस खबर को पढ़ने के बाद आप इस आदत से बचने की कोशिश करेंगे. ये तीन सबसे महत्वपूर्ण कारण हैं, जिनकी वजह से आपको क्रॉस-पैर करके नहीं बैठना चाहिए.

मांसपेशियां का सो जाना

जब आप अपने पैरों को क्रॉस करके बैठते हैं तो इससे आपकी नसे दब जाती है. और इससे रक्त के सही परिसंचरण में बाधा आती है. नतीजतन, आपका पैर और यहां तक ​​कि आपका पैर “सो जाता है”. यही कारण है कि आप उस क्षेत्र में झुकाव महसूस करते हैं जब आप लंबे समय तक क्रॉस-पैर बैठे थे. यदि यह फिर से होता है, तो तुरंत उठो और अपने अंगों को हिलाओ.

यह गर्दन के दर्द का कारण बनता है

पैरों को क्रॉस करके आप रीढ़ और गर्दन पर अतिरिक्त दबाव डालते हैं. जो आपको पता भी नही चलता है. समय के साथ, आप अपने वजन को तरफ झुकाव और स्थानांतरित कर देते हैं. यह लंबे समय तक गर्दन, पीठ, कूल्हों या रीढ़ की हड्डी में दर्द का कारण बन जाता है.

अपने रक्तचाप को बढ़ाएं

2007 में आयोजित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जब कोई व्यक्ति क्रॉस पैर में बैठता है तो रक्तचाप बढ़ जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button