उत्तर प्रदेशख़बर

यूपी में भारी बारिश से तबाही, 26 लोगों की मौत, सड़कों पर भरा पानी; कॉलोनी में भी जलभराव

उत्तर प्रदेश के 40 जिलों में 20 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। कई जिलों में तो लगातार दो दिन यानी 48 घंटे से बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश में अब तक बारिश से जुड़े हादसों में 26 लोगों की मौत हो चुकी है। भारी बरसात के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो दिन स्कूल-कॉलेजों बंद रखने का फैसला किया है। शुक्रवार, शनिवार और रविवार यानी तीन दिन स्कूल बंद रहेंगे।

इधर,प्रयागराज में घरों के गिरने से 5 लोगों की जान गई है। राजधानी लखनऊ का हाल भी बेहाल है। यहां एयरपोर्ट के रन-वे तक में पानी भर गया है। इससे कई उड़ान प्रभावित हुई हैं। उनका रूट डायवर्ट किया गया है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि पश्चिम बंगाल के चक्रवात तूफान के असर के कारण UP में भारी बारिश हो रही है। लखनऊ में सितंबर महीने में एक दिन में 10 साल में सबसे ज्यादा बारिश होने का रिकॉर्ड बना है।

लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर, अयोध्या, जौनपुर, सुल्तानपुर, भदोही, गाजीपुर, चित्रकूट, बहराइच, बांदा, देवरिया, इटावा, फतेहपुर समेत कई जिलों में सुबह से भारी बारिश हो रही है। तेज हवाओं के साथ बिजली भी चमक रही है। इन शहरों में कई इलाकों में सड़क से लेकर घरों तक में पानी भर गया है।

लखनऊ में बीते 36 घंटे में 222 मिमी हुई बारिश
मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया पिछले 24 घंटे में पूरे यूपी में 33.1 मिमी बारिश हुई है। अकेले लखनऊ में 36 घन्टे में 222 मिमी बारिश हुई है। गुरुवार दोपहर 2 बजे से शाम 5:30 बजे तक 23 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई।

इस साल जुलाई में 115.7 मिमी हुई थी। करीब 10 साल बाद लखनऊ में सितंबर महीने में इतनी ज्यादा बारिश हुई है। इससे पहले 2012 में 14 सितंबर को एक दिन में 138 मिमी बारिश हुई थी। लखनऊ में एक बच्चे की करंट लगने और दो बच्चों की गड्‌ढ़े में डूबने से मौत हो गई।

बनारस: 10 साल में तीसरी बार एक दिन में सबसे ज्यादा बारिश
वाराणसी में 40 घंटे में रिकार्ड 120 मिलीमीटर बारिश हुई है। ये पिछले 10 साल में तीसरी मौका है, जब वाराणसी में इतनी ज्यादा बारिश हुई है। इससे पहले 2011 में एक दिन में 146 मिलीमीटर और 2019 में 130 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई थी। हर तरफ जल जमाव और सड़कों के गड्ढों में पानी लबालब भरा हुआ है। यहां शाम 4 बजे तक बारिश जारी रही। हालांकि बादल अभी भी पूरी तरह से छाए हुए हैं।

मेरठ: बारिश व तेज हवा बनी आफत
​​​​​​​
वेस्ट यूपी के मेरठ व आसपास के जिलों में गुरुवार को हुई बारिश और तेज हवा आफत बनकर टूटी। तेज हवा के साथ बारिश ने गन्ने व धान की फसल को नुकसान हुआ है। गन्ने की फसल तेज हवा के चलने से गिर गई। NCR में मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलन्दशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर और आसपास के जिलों में बारिश हुई। शाम के समय भी आसमान में काले बादल छाए हुए हैं।

प्रयागराज: कई इलाकों में पानी घुसा, सड़कें धंसी

प्रयागराज में तेज हवाओं के साथ 24 घंटे से लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। विभिन्न क्षेत्रों में मकान ढहने से 5 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई अन्य घायल हो गए हैं। कई इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस गया है। सड़कों पर पेड़ गिरने से आवागमन बाधित है। कई जगह बारिश से सड़कें धंस गई हैं।

बारिश से मुट्ठीगंज क्षेत्र में दो मंजिला मकान ढह गया। मकान के मलबे में दबकर महिला की मौत हो गई। कोरांव में मकान ढहने से महिला की मौत हो गई। मऊआइमा में भी एक व्यक्ति की मौत की सूचना है। शंकरगढ़ में कचारी गांव में दो मंजिला पक्का मकान ढहने दो लोगों की जान चली गई।

आगरा: सुबह से मौसम सुहाना है। तेज हवाएं चल रही हैं। दिनभर बादल छाए रहे। शाम को हल्की फुहार पड़ी, इससे मौसम में ठंडा हो गया है।

औसत अनुमान से 5 गुना ज्यादा बारिश
उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के अंदर औसत अनुमान से 5 गुना ज्यादा बारिश हुई है। राज्य में 33.1 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है, जो औसत अनुमान 7.6 मिमी से करीब 5 गुना ज्यादा है। लखनऊ में मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार रात 12 बजे से लेकर सुबह 9 बजे तक 109.2 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड हुई थी। शाम तक आंकड़ा बढ़ गया।

जौनपुर में तीन, फतेहपुर में पांच की मौत

जौनपुर में कच्चा मकान गिरने से तीन लोगों की जान चली गई है। फतेहपुर जिले में बारिश के चलते तीन मासूमों सहित पांच लोगों को मौत हुई है। कौशांबी में 2 और अमेठी में दीवार गिरने से एक व्यक्ति की जान गई है। सीतापुर और चित्रकूट में एक-एक की मौत हुई है।

बरेली में भी एक चार साल के बच्चे की मौत हुई है। इसी तरह बलिया में बारिश के चलते 2 बच्चों की तालाब में डूब कर मौत हुई है। वहीं, रायबरेली, बांदा, उन्नाव और बाराबंकी में 1-1 लोगों की मौत हुई है।

सड़कों पर भरा पानी, कॉलोनी में भी जलभराव

लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर जैसे बड़े शहरों बारिश के चलते सड़कों और कालोनियों में जलभराव की स्थिति हो गई है। प्रयागराज में   जिलाधिकारी ने रेनी डे घोषित कर दिया। सारे स्कूल बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। लखनऊ में पुलिस ने लोगों को घर में रहने की सलाह दी है।

लखनऊ का हाल बेहाल

शनिवार 18 सितंबर तक मौसम के ऐसे ही रहने के आसार हैं। बारिश के चलते तापमान अचानक गिर गया है। लखनऊ में अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम ठंडा हो गया है। लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट के रनवे पर पानी भर गया है। लखनऊ-फैजाबाद हाईवे पर भी कई जगहों पर पानी जमा हो गया है।

प्रदेश के मौसम का हाल-

जौनपुर में दिवार गिरी, 3 की मौत

जौनपुर के सुजानगंज के सरायखानी गांव में भारी बारिश के चलते सुबह 4 बजे के करीब कच्चा मकान ढह गया। मकान गिरने के कारण घर के 5 सदस्य इसकी चपेट में आ गए। इनमें तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि दो गंभीर घायल हैं। मरने वालों में पति-पत्नी और पुत्री शामिल हैं।

बलिया में तीन की मौत

बलिया के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र में लगातार बारिश से गड्‌ढे में भरे पानी में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई है। इसमें एक बालक की शिनाख्त तेजस कुमार (14) पुत्र मनोज कुमार बरनवाल, जबकि दूसरे की विशाल चौहान (12) पुत्र सुरेंद्र चौहान निवासी मवेशी अस्पताल के रूप में हुई।

वहीं, रसड़ा के सवरुपुर गांव में बुधवार को रामबचन राजभर के घर की दीवार बरसात के कारण गिर गई। इससे घर में मौजूद राम अचल राजभर (55) उनकी पत्नी पुरुषोत्तम देवी ( 50) पौत्र अमनदीप साथ मलबे में दब गए। ग्रामीणों की तत्काल तीनों को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने पुरुषोत्तम देवी को मृत घोषित कर दिया।

फतेहपुर में 5 की मौत

फतेहपुर में अलग-अलग घटनाओं में चार की मौत हुई है। महरहा गांव में दो दिन से हो रही बारिश से कच्चा मकान गिरने से 2 वर्षीय बच्चे की मौत, पति पत्नी गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

अमेठी में 1 और कौशांबी में भी दो मौतें

अमेठी के जायस कोतवाली क्षेत्र में बारिश से मकान की दीवार गिर गई। इसमें पांच वर्षीय मासूम की मौत हो गई। कौशांबी के बिरनेर गांव में एक कच्चा मकान गिरने से वृद्धा की मौत हो गई है, जबकि बुजुर्ग पति घायल है।

बरेली में बच्चे की मौत

बरेली में आंधी तूफान और बारिश के बीच सुभाष नगर थाना क्षेत्र में दीवार गिरने से दबे 4 साल के मासूम निहाल की मौत हो गई। बरेली के थाना इज्जत नगर के सैदपुर आखिर में आंधी तूफान के कारण मकान की दीवार गिर गई। दीवार गिरने से वेद प्रकाश के पुत्र सचिन (2) की मौत हो गई है, जबकि एक लड़की की हालत गंभीर है।

चित्रकूट में दीवार गिरने से एक मासूम की मौत हो गई। सीतापुर में भी दीवार गिरने से एक मौत हुई है।

यलो जोन में 35 जिले

मौसम विभाग ने कौशांबी, प्रयागराज, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, जौनपुर, अंबेडकर नगर, गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महाराजगंज, संत कबीर नगर, सिद्धार्थ नगर, बलरामपुर, बस्ती, गोंडा, श्रावस्ती, फतेहपुर, बांदा, झांसी, महोबा, हमीरपुर, जालौन, इटावा, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद, आगरा, मथुरा, संभल, अमरोहा, हापुड़ जिले में बारिश का अलर्ट जारी किया है।

रेड जोन में 27 जिले
87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के हवाओं के साथ बिजली की गरज चमक के बीच लखनऊ समेत 27 जिले में रेड अलर्ट जारी किया गया है। अमेठी, अयोध्या, बाराबंकी, बहराइच, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, कन्नौज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

हमीरपुर में सबसे ज्यादा बारिश

बुधवार से ही पूरे प्रदेश में तेज हवाएं और बारिश हो रही है। कहीं भारी, तो कहीं सामान्य वर्षा रिकार्ड की गई। सबसे अधिक 45 मिमी बारिश हमीरपुर में हुई। यहां दिन के तापमान में सबसे अधिक 7.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। बीती रात को गाजीपुर में न्यूनतम 22 डिग्री तक पहुंच गया, जो सामान्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था।

तेज हवाओं व बारिश की वजह से हमीरपुर में दिन का तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 7.2 डिग्री नीचे था। बांदा में दिन के पारे में 7 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

उत्तर प्रदेश

यूपी में भारी बारिश से तबाही, 26 लोगों की मौत, सड़कों पर भरा पानी; कॉलोनी में भी जलभराव

उत्तर प्रदेश के 40 जिलों में 20 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। कई जिलों में तो लगातार दो दिन यानी 48 घंटे से बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश में अब तक बारिश से जुड़े हादसों में 26 लोगों की मौत हो चुकी है। भारी बरसात के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो दिन स्कूल-कॉलेजों बंद रखने का फैसला किया है। शुक्रवार, शनिवार और रविवार यानी तीन दिन स्कूल बंद रहेंगे।

इधर,प्रयागराज में घरों के गिरने से 5 लोगों की जान गई है। राजधानी लखनऊ का हाल भी बेहाल है। यहां एयरपोर्ट के रन-वे तक में पानी भर गया है। इससे कई उड़ान प्रभावित हुई हैं। उनका रूट डायवर्ट किया गया है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि पश्चिम बंगाल के चक्रवात तूफान के असर के कारण UP में भारी बारिश हो रही है। लखनऊ में सितंबर महीने में एक दिन में 10 साल में सबसे ज्यादा बारिश होने का रिकॉर्ड बना है।

लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर, अयोध्या, जौनपुर, सुल्तानपुर, भदोही, गाजीपुर, चित्रकूट, बहराइच, बांदा, देवरिया, इटावा, फतेहपुर समेत कई जिलों में सुबह से भारी बारिश हो रही है। तेज हवाओं के साथ बिजली भी चमक रही है। इन शहरों में कई इलाकों में सड़क से लेकर घरों तक में पानी भर गया है।

लखनऊ में बीते 36 घंटे में 222 मिमी हुई बारिश
मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया पिछले 24 घंटे में पूरे यूपी में 33.1 मिमी बारिश हुई है। अकेले लखनऊ में 36 घन्टे में 222 मिमी बारिश हुई है। गुरुवार दोपहर 2 बजे से शाम 5:30 बजे तक 23 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई।

इस साल जुलाई में 115.7 मिमी हुई थी। करीब 10 साल बाद लखनऊ में सितंबर महीने में इतनी ज्यादा बारिश हुई है। इससे पहले 2012 में 14 सितंबर को एक दिन में 138 मिमी बारिश हुई थी। लखनऊ में एक बच्चे की करंट लगने और दो बच्चों की गड्‌ढ़े में डूबने से मौत हो गई।

बनारस: 10 साल में तीसरी बार एक दिन में सबसे ज्यादा बारिश
वाराणसी में 40 घंटे में रिकार्ड 120 मिलीमीटर बारिश हुई है। ये पिछले 10 साल में तीसरी मौका है, जब वाराणसी में इतनी ज्यादा बारिश हुई है। इससे पहले 2011 में एक दिन में 146 मिलीमीटर और 2019 में 130 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई थी। हर तरफ जल जमाव और सड़कों के गड्ढों में पानी लबालब भरा हुआ है। यहां शाम 4 बजे तक बारिश जारी रही। हालांकि बादल अभी भी पूरी तरह से छाए हुए हैं।

मेरठ: बारिश व तेज हवा बनी आफत
​​​​​​​
वेस्ट यूपी के मेरठ व आसपास के जिलों में गुरुवार को हुई बारिश और तेज हवा आफत बनकर टूटी। तेज हवा के साथ बारिश ने गन्ने व धान की फसल को नुकसान हुआ है। गन्ने की फसल तेज हवा के चलने से गिर गई। NCR में मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलन्दशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर और आसपास के जिलों में बारिश हुई। शाम के समय भी आसमान में काले बादल छाए हुए हैं।

प्रयागराज: कई इलाकों में पानी घुसा, सड़कें धंसी

प्रयागराज में तेज हवाओं के साथ 24 घंटे से लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। विभिन्न क्षेत्रों में मकान ढहने से 5 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई अन्य घायल हो गए हैं। कई इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस गया है। सड़कों पर पेड़ गिरने से आवागमन बाधित है। कई जगह बारिश से सड़कें धंस गई हैं।

बारिश से मुट्ठीगंज क्षेत्र में दो मंजिला मकान ढह गया। मकान के मलबे में दबकर महिला की मौत हो गई। कोरांव में मकान ढहने से महिला की मौत हो गई। मऊआइमा में भी एक व्यक्ति की मौत की सूचना है। शंकरगढ़ में कचारी गांव में दो मंजिला पक्का मकान ढहने दो लोगों की जान चली गई।

आगरा: सुबह से मौसम सुहाना है। तेज हवाएं चल रही हैं। दिनभर बादल छाए रहे। शाम को हल्की फुहार पड़ी, इससे मौसम में ठंडा हो गया है।

औसत अनुमान से 5 गुना ज्यादा बारिश
उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के अंदर औसत अनुमान से 5 गुना ज्यादा बारिश हुई है। राज्य में 33.1 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है, जो औसत अनुमान 7.6 मिमी से करीब 5 गुना ज्यादा है। लखनऊ में मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार रात 12 बजे से लेकर सुबह 9 बजे तक 109.2 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड हुई थी। शाम तक आंकड़ा बढ़ गया।

जौनपुर में तीन, फतेहपुर में पांच की मौत

जौनपुर में कच्चा मकान गिरने से तीन लोगों की जान चली गई है। फतेहपुर जिले में बारिश के चलते तीन मासूमों सहित पांच लोगों को मौत हुई है। कौशांबी में 2 और अमेठी में दीवार गिरने से एक व्यक्ति की जान गई है। सीतापुर और चित्रकूट में एक-एक की मौत हुई है।

बरेली में भी एक चार साल के बच्चे की मौत हुई है। इसी तरह बलिया में बारिश के चलते 2 बच्चों की तालाब में डूब कर मौत हुई है। वहीं, रायबरेली, बांदा, उन्नाव और बाराबंकी में 1-1 लोगों की मौत हुई है।

सड़कों पर भरा पानी, कॉलोनी में भी जलभराव

लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर जैसे बड़े शहरों बारिश के चलते सड़कों और कालोनियों में जलभराव की स्थिति हो गई है। प्रयागराज में   जिलाधिकारी ने रेनी डे घोषित कर दिया। सारे स्कूल बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। लखनऊ में पुलिस ने लोगों को घर में रहने की सलाह दी है।

लखनऊ का हाल बेहाल

शनिवार 18 सितंबर तक मौसम के ऐसे ही रहने के आसार हैं। बारिश के चलते तापमान अचानक गिर गया है। लखनऊ में अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम ठंडा हो गया है। लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट के रनवे पर पानी भर गया है। लखनऊ-फैजाबाद हाईवे पर भी कई जगहों पर पानी जमा हो गया है।

प्रदेश के मौसम का हाल-

जौनपुर में दिवार गिरी, 3 की मौत

जौनपुर के सुजानगंज के सरायखानी गांव में भारी बारिश के चलते सुबह 4 बजे के करीब कच्चा मकान ढह गया। मकान गिरने के कारण घर के 5 सदस्य इसकी चपेट में आ गए। इनमें तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि दो गंभीर घायल हैं। मरने वालों में पति-पत्नी और पुत्री शामिल हैं।

बलिया में तीन की मौत

बलिया के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र में लगातार बारिश से गड्‌ढे में भरे पानी में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई है। इसमें एक बालक की शिनाख्त तेजस कुमार (14) पुत्र मनोज कुमार बरनवाल, जबकि दूसरे की विशाल चौहान (12) पुत्र सुरेंद्र चौहान निवासी मवेशी अस्पताल के रूप में हुई।

वहीं, रसड़ा के सवरुपुर गांव में बुधवार को रामबचन राजभर के घर की दीवार बरसात के कारण गिर गई। इससे घर में मौजूद राम अचल राजभर (55) उनकी पत्नी पुरुषोत्तम देवी ( 50) पौत्र अमनदीप साथ मलबे में दब गए। ग्रामीणों की तत्काल तीनों को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने पुरुषोत्तम देवी को मृत घोषित कर दिया।

फतेहपुर में 5 की मौत

फतेहपुर में अलग-अलग घटनाओं में चार की मौत हुई है। महरहा गांव में दो दिन से हो रही बारिश से कच्चा मकान गिरने से 2 वर्षीय बच्चे की मौत, पति पत्नी गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

अमेठी में 1 और कौशांबी में भी दो मौतें

अमेठी के जायस कोतवाली क्षेत्र में बारिश से मकान की दीवार गिर गई। इसमें पांच वर्षीय मासूम की मौत हो गई। कौशांबी के बिरनेर गांव में एक कच्चा मकान गिरने से वृद्धा की मौत हो गई है, जबकि बुजुर्ग पति घायल है।

बरेली में बच्चे की मौत

बरेली में आंधी तूफान और बारिश के बीच सुभाष नगर थाना क्षेत्र में दीवार गिरने से दबे 4 साल के मासूम निहाल की मौत हो गई। बरेली के थाना इज्जत नगर के सैदपुर आखिर में आंधी तूफान के कारण मकान की दीवार गिर गई। दीवार गिरने से वेद प्रकाश के पुत्र सचिन (2) की मौत हो गई है, जबकि एक लड़की की हालत गंभीर है।

चित्रकूट में दीवार गिरने से एक मासूम की मौत हो गई। सीतापुर में भी दीवार गिरने से एक मौत हुई है।

यलो जोन में 35 जिले

मौसम विभाग ने कौशांबी, प्रयागराज, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, जौनपुर, अंबेडकर नगर, गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महाराजगंज, संत कबीर नगर, सिद्धार्थ नगर, बलरामपुर, बस्ती, गोंडा, श्रावस्ती, फतेहपुर, बांदा, झांसी, महोबा, हमीरपुर, जालौन, इटावा, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद, आगरा, मथुरा, संभल, अमरोहा, हापुड़ जिले में बारिश का अलर्ट जारी किया है।

रेड जोन में 27 जिले
87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के हवाओं के साथ बिजली की गरज चमक के बीच लखनऊ समेत 27 जिले में रेड अलर्ट जारी किया गया है। अमेठी, अयोध्या, बाराबंकी, बहराइच, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, कन्नौज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

हमीरपुर में सबसे ज्यादा बारिश

बुधवार से ही पूरे प्रदेश में तेज हवाएं और बारिश हो रही है। कहीं भारी, तो कहीं सामान्य वर्षा रिकार्ड की गई। सबसे अधिक 45 मिमी बारिश हमीरपुर में हुई। यहां दिन के तापमान में सबसे अधिक 7.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। बीती रात को गाजीपुर में न्यूनतम 22 डिग्री तक पहुंच गया, जो सामान्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था।

तेज हवाओं व बारिश की वजह से हमीरपुर में दिन का तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 7.2 डिग्री नीचे था। बांदा में दिन के पारे में 7 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

Back to top button