उत्तर प्रदेश

यूपी में ‘खास’ अभ्यर्थियों के लिए खास व्यवस्था, बंद कमरे में समीक्षा अधिकारी भर्ती की दी परीक्षा

गोरखपुर :  यूपी के गोरखपुर जिले में विधान परिषद सचिवालय समीक्षा अधिकारी परीक्षा में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। यहां 14 केंद्र पर समीक्षा अधिकारी की परीक्षा हो रही थी। इस दौरान एक सेंटर पर कुछ ‘खास’ परीक्षार्थियों को एक बंद कमरे में बिठाकर परीक्षा कराए जाने का आरोप लगा है। सेंटर के बाहर खड़े अभ्यर्थियों के हंगामे के बाद मौके पर जिलाधिकारी और एसएसपी पहुंचे। जांच के बाद सचिवालय से फोन पर बात की गई और भटहट इलाके के सेंटर की परीक्षा को रद्द कर दिया गया।

ब्लैक लिस्टेड सेंटर को बनाया गया था केंद्र, धांधली का आरोप
बताते चलें कि रविवार को उत्तर प्रदेश विधान परिषद सचिवालय के विभिन्न पदों पर परीक्षा का आयोजन किया गया था। इसके लिए जिले में 14 केंद्र बनाए गए थे। सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण परीक्षा का संचालन किया जा रहा था। इसी बीच भटहट स्थित गुलाबी देवी इंटर कॉलेज में अभ्यर्थियों ने हंगामा शुरू कर दिया। अभ्यर्थियों का आरोप था कि सेंटर पर कुछ परीक्षार्थियों से बंद कमरे के अंदर पेपर सॉल्व कराया जा रहा है। जबकि अन्य अभ्यर्थियों को एक घण्टे बीत जाने के बाद भी पेपर नहीं दिया गया। इसके बाद अभ्यर्थियों ने सेंटर के बाहर पर्चा आउट कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया।

कुछ ‘खास’ अभ्यर्थियों को आधे घंटे पहले पेपर दिया गया
हंगामे की जानकारी होने पर केंद्र पर पहुंचे डीएम और एसएसपी ने छात्रों को शांत कराते हुए मामले की जांच की। जिसमें पता चला कि इस सेंटर पर कुछ परीक्षार्थियों को आधे घंटे पहले पेपर दिया गया वहीं इसके पहले भी विवादों में घिरे रहने की वजह से इस सेंटर को पुलिस भर्ती परीक्षा के दौरान ब्लैक लिस्टेड किया गया था। ऐसे में ब्लैक लिस्टेड सेंटर को कैसे परीक्षा करते जाने की हरी झंडी मिली इसकी भी जांच की जा रही है।

डीएम ने सचिवालय सूचना देकर निरस्त कराई परीक्षा
मामले की जांच के बाद गोरखपुर जिलाधिकारी ने सचिवालय फोन कर मामले से अवगत कराया। इसके बाद परीक्षा निरस्त की गई।इसे दोबारा आयोजित किया जाएगा। प्रशासन के इस ऐक्शन के बाद छात्र शांत हुए। उधर डीएम ने मीडिया को भी बताया कि परीक्षा में धांधली की वजह से इसे रद्द किया गया है। परीक्षा को दोबारा आयोजित कराया जाएगा।

Back to top button