उत्तर प्रदेश

यूपी में कोरोना ने बिगाड़े हालात, 24 घंटों में 28 हजार से ज्यादा नए मामले, 167 लोगों ने तोड़ा दम

लखनऊ
उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी (coronavirus in uttar pradesh) का कहर थमने का नाम तो नहीं ले रहा लेकिन सोमवार को सामने आई रिपोर्ट में कुछ राहत की आहट जरूर मिली है। प्रदेश में बीते 24 घंटे में जहां 28 हजार 200 नए मामले सामने आए हैं, वहीं एक दिन में कोरोना को हराने वालों की संख्या भी 11 हजार के पार हो गई। प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़ने को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अच्छा संकेत माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, पिछले 25 दिनों में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में लोग कोरोना से रिकवर हुए हैं।

हेल्थ विभाग की ओर से सोमवार को जारी किए गए रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना के 28 हजार 200 नए मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा मामले राजधानी लखनऊ से सामने आए। यहां एक दिन में 5 हजार 800 नए मरीज मिले हैं। वहीं, कोरोना की वजह से राज्य में 24 घंटों के भीतर कुल 167 लोगों की जान गई है। राजधानी लखनऊ में ही 22 लोगों ने कोरोना की वजह से दम तोड़ दिया है।

बीते 25 दिनों में सबसे ज्यादा रिकवरी
कोरोना से मचे हाहाकार के बीच सोमवार की रिपोर्ट में कुछ अच्छे संकेत भी मिले। बीते 25 दिनों में पहली बार सोमवार को सबसे ज्यादा रिकवरी हुई। 24 घंटों के भीतर तकरीबन 11 हजार लोगों ने कोरोना को मात दी है। डॉक्टरों ने बताया कि प्रदेश में कोरोना से रिकवर होने वाले लोगों की संख्या का बढ़ना अच्छा संकेत है। पिछले हफ्ते की रिपोर्ट पर नजर डालें तो कोरोना के यूपी में रेकॉर्ड तोड़ मामले सामने आए थे। एक हफ्ते के भीतर ही नए मामलों में 204 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी देखी गई थी।

इतना ही नहीं, कोरोना से रिकवरी रेट में भी भारी गिरावट दर्ज की गई थी। मार्च के अंतिम हफ्ते में तो रिकवरी रेट 98 प्रतिशत से घटकर 85 फीसदी पर पहुंच गया था। प्रदेश में राजधानी लखनऊ के बाद नोएडा से हैरान कर देने वाले आंकड़े सामने आ रहे हैं।

मास्क न लगाने पर 10 हजार तक का जुर्माना
कोरोना से मचे हाहाकार के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार भी ऐक्शन मोड में आई है। रविवार को कोरोना से जंग के लिए बनी टीम-11 को सीएम ने कई सख्त निर्देश दिए। सीएम ने आदेश दिया कि कोरोना के नियमों का पालन नहीं करने वालों तथा मास्क लगाने में लापरवाही बरतने वाले लोगों पर कड़ा ऐक्शन लिया जाए। पहली बार बिना मास्क पकड़े जाने पर 1 हजार रुपये और दोबारा पकड़े जाने पर 10 हजार रुपये का फाइन लगाया जाए।

रेमडेसिविर की कालाबाजारी पर लगेगा एनएसए-गैंगस्टर ऐक्ट
सीएम ने इसके अलावा टीम को प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई को बेहतर बनाने के लिए कहा है। उन्होंने रेमडेसिविर जैसी जरूरी दवाइयों की भी कमी न होने देने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। कोरोना के इलाज से जुड़ी रेमडेसिविर आदि दवाओं की कालाबाजारी पर भी सीएम ने सख्ती से पेश आने के लिए कहा है। उन्होंने सोमवार को अधिकारियों को निर्देशित किया है कि रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले लगों के खिलाफ गैंगस्टर और एनएसए ऐक्ट के तहत कार्रवाई की जाए।

Back to top button