उत्तर प्रदेशख़बर

यूपी में कांग्रेस का बड़ा गेम, बीजेपी के एक सांसद और एक मंत्री की होगी ‘घरवापसी’ ?

तीन राज्यों में कांग्रेस की बड़ी जीत के बाद से ही पार्टी के पक्ष में पूरे देश में माहौल बन रहा है। इससे उत्तर प्रदेश भी अछूता नहीं है। ख़बर है कि वो नेता जो ‘मोदी लहर’ के समय कांग्रेस छोड़ भाजपा में चले गए थे अब वापिस आने का रास्ता ढूँढ रहे हैं। इन नेताओं में कई बड़े नाम शामिल हैं। परंतु दो ऐसे नाम हैं जिनकी चर्चा आजकल राजनीतिक गलियारों में हो रही है। जिन दो नेताओं की चर्चा सबसे अधिक हो रही है वो हैं रीता बहुगुणा जोशी और जगदंबिका पाल।

रीता बहुगुणा जोशी लंबे समय तक कांग्रेस में रही हैं लेकिन कांग्रेस के गिरते ग्राफ़ को देखने के बाद वो भाजपा में चली गईं हैं। उनके क़रीबी बताते हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री होने के बाद भी उन्हें कोई ख़ास सम्मान नहीं मिल रहा है। यही वजह है कि अब उनका भाजपा से मोह भंग होता दिख रहा है।

कुछ यही हाल जगदंबिका पाल का है। पाल एक समय भाजपा विरोध करने में पीछे नहीं हटते थे लेकिन मौक़ा देख कर वो भाजपा में चले गए थे। उनके बारे में भी ये ख़बर है कि वो फिर से कांग्रेस में आ सकते हैं। इन दोनों नेताओं के क़रीबी मानते हैं कि ये दोनों ही नेता आरएसएस की विचारधारा के नहीं हैं और किसी हवा में भाजपा में चले गए हैं. ऐसे में आरएसएस की विचारधारा का न होना और भाजपा का होना ये भाजपा में बहुत दिन चल नहीं पाता है.

एक लंबे दौर तक ये दोनों नेता कांग्रेस में रहे हैं जहाँ इनको प्रॉपर मीडिया कवरेज भी मिलती थी लेकिन भाजपा में आने के बाद ये हाशिये पर चले गए है। इस बात का फ़ायदा कांग्रेस को मिल सकता है। परंतु सवाल ये भी है कि क्या इन नेताओं को कांग्रेस में पहले जैसा सम्मान मिलेगा। बताया जा रहा है कि इसी बात का डर इन दोनों को सता रहा है। इन दोनों की फिर से कांग्रेस में एंट्री कराने को लेकर शुरुआती स्तर की बातचीत भी शुरू हो चुकी है। उम्मीद की जा रही है कि ये दोनों ही नेता लोकसभा टिकट अगर कांग्रेस की ओर से ऑफर होता है तो कांग्रेस में शिफ्ट हो सकते हैं.

Back to top button