उत्तर प्रदेश

यूपी: मदरसों की फर्जी मार्कशीट पर बन गए दर्जनों पासपोर्ट, मामला खुला तो मचा हंगामा

यूपी के बरेली में पासपोर्ट कार्यालय से फर्जी मार्कशीट और सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर 40 पासपोर्ट जारी होने का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक यह सभी मार्कशीट मदरसा बोर्ड की हैं. मामला सामने आने के बाद हडकंप मच गया. फर्जीवाड़ा पकड़े जाने के बाद मदरसा बोर्ड लखनऊ के हजरतगंज थाने में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है. इनमे से अधिकाँश पासपोर्ट रामपुर, सम्भल और अमरोहा जिले के रहने वाले लोगों के है.

ऐसे खुला मामला

अक्टूबर में पासपोर्ट कार्यालय बरेली ने उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद को सत्यापन के लिए 52 आवेदकों का रिकार्ड भेजा था. वहां से सत्यापन की जो कम्पाइल रिपोर्ट आई उसमे मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार एसएन पांडे और वरिष्ठ सहायक अरुण कुमार तिवारी साइन संदिग्ध लगे. जिस पर क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी मोहम्मद नईम ने हस्ताक्षर की पुष्टि के लिए वरिष्ठ सहायक अरुण कुमार से सम्पर्क किया और उन्हें वाट्सअप पर सत्यापन का पत्र भेजा तो मामला खुल गया.

निरस्त होंगे पासपोर्ट

सत्यापन रिपोर्ट में अंकपत्रों के सही होने के कारण आवेदकों को पासपोर्ट जारी कर दिए गए थे. अब जब पता चला है कि सत्यापन रिपोर्ट ही फर्जी है तो विभाग में हड़कंप मच गया. अब पूरी सूची निकाल कर पासपोर्ट को निरस्त करने की तैयारी चल रही है.

लगाई गई फर्जी मोहर

फर्जीवाड़ा करने के लिए न सिर्फ फर्जी मार्कशीट लगाई गई बल्कि फर्जी साइन और फर्जी मोहर का भी प्रयोग किया गया. जांच में सामने आया है कि मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार एसएन पांडे और वरिष्ठ सहायक अरुण कुमार तिवारी फर्जी साइन कर सत्यापन रिपोर्ट भेजी गई साथ ही इसमें विभाग की फर्जी मोहर का भी प्रयोग किया गया. इस पूरे मामले में मदरसा बोर्ड के कर्मचारी भी संलिप्त नजर आ रहे हैं.

Back to top button