उत्तर प्रदेशख़बर

यूपी पुलिस की सौगंध: किसी नेता-अधिकारी को बचाने के लिए नहीं चलाएंगे हथियार

यूपी की राजधानी लखनऊ में दो पुलिसकर्मियों ने एप्पल कंपनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या कर दी. इस कांड में शामिल सिपाहियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग पूरा देश कर रहा है. लेकिन ये इस मामले का एक पहलू है. दूसरा पहलू ये है कि आरोपी सिपाहियों के पक्ष में भी सोशल मीडिया पर मुहिम शुरू हो गई है.

सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस के आरोपी सिपाहियों के पक्ष में बाकायदा मुहिम चलाई जा रही है. सिपाहियों को कोर्ट केस लड़ने के लिए आर्थिक मदद मांगी जा रही है. खाते में तमाम लोग रुपये ट्रांसफर कर रहे हैं. ग्रुप में सिपाही की पत्नी की पासबुक की फोटो डाली गई है जिसमें खाता नंबर दिया गया है लोग इस खाते में रुपए ट्रांसफर कर रहे हैं. बरेली के भी सिपाहियों ने बताया कि ऐसे मैसेज रहे हैं अगर कोई बरेली से रूपये भेजेगा तो हम भी भेज देंगे.

इसके साथ-साथ फेसबुक पर बने सिपाहियों के एक ग्रुप में शामिल लोग यह लिख रहे हैं कि हम सिपाही आज से कसम खाते है नेता या अफसरों को कोई गोली मार दे लेकिन अब हम कभी हथियार नहीं उठाएंगे. इसके साथ ही तमाम अन्य पोस्ट भी सिपाहियों के पक्ष में की गई है.

बता दें कि एप्पल कंपनी के मैनेजर विवेक तिवारी अपनी एक महिला मित्र के साथ शुक्रवार देर रात गोमती नगर इलाके से गुजर रहे थे. जहां पर उन्हें प्रशांत चौधरी नाम के सिपाही ने गोली मार दी. घटना के बारे में सिपाही का कहना है कि विवेक तिवारी ने उनकी मोटरसाइकिल में टक्कर मारी थी और उसे भी कुचलने की कोशिश की गई थी इसलिए आत्मरक्षा में उसने गोली चलाई जो विनोद तिवारी को लगी. इस घटना के बाद लखनऊ पुलिस ने प्रशांत मलिक और एक अन्य सिपाही को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. साथ ही सिपाहियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button