क्राइम

यूपी : पानी में तैरते मिले 3 नाबालिग भाइयों के शव, तीनों की आंखें निकली हुईं!

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में 3 लड़कों की आँख निकाल कर कथित तौर पर निर्दयता से हत्या का मामला सामने आया है। तीनों लड़के एक ही परिवार के सदस्य हैं और लालगंज थाना क्षेत्र के बामी गाँव निवासी हैं। तीनों भाइयों (चचेरे) का शव बुधवार (2 दिसंबर 2020) विंध्याचल के लेहड़िया बंधी के पानी से बरामद किया गया। परिजनों ने आशंका जताई है कि उनकी हत्या करके आँख निकाली गई है।

घटना की जानकारी मिलते ही एएसपी ऑपरेशन महेश अन्नी और एसडीएम लालगंज जंग बहादुर यादव घटनास्थल पर पहुँचे और वहाँ का मुआयना किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ परिजनों ने इस घटना पर आक्रोश जताते हुए शव लेकर एनएच 7 जाम कर दिया। उनका कहना है कि इस मामले पर प्रशासन द्वारा जल्द से जल्द कार्रवाई हो।

1 दिसंबर 2020 को लालगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत बामी गाँव के निवासी हरिओम तिवारी (14 साल), सुधांशु तिवारी (14 साल) और शिवम तिवारी (14 साल) अपने घर के नज़दीक स्थित कुशियरा जंगल में बेर खाने के लिए गए थे। काफी समय बीत जाने के बावजूद जब वह वापस नहीं लौटे, नतीजतन उनके परिजनों ने खोजबीन शुरू की।

खोजबीन के बाद जब उनका पता नहीं चला, तब परिजनों ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस द्वारा मामले का संज्ञान लिए जाने के कुछ ही समय बाद स्थानीय लोगों ने बताया कि किशोरों का शव लेहड़िया बंधी के पास देखा गया है।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची और तीनों का शव निकलवाया। शव निकालने के बाद देखा गया कि उनके शरीर पर चोटों के कई निशान हैं और आँखें भी निकाली गई हैं। यह देख कर किशोरों के परिजन आक्रोशित हुए और पुलिस को शव लेकर नहीं जाने दिया।

उन्होंने शवों के साथ एनएच जाम करते हुए जिलाधिकारी को बुलाने की माँग उठाई। जिसके बाद डीएम के आश्वासन पर शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। फ़िलहाल किशोरों की कथित तौर पर हत्या का कारण सामने नहीं आया है।

इस घटना पर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह का कहना है कि लेहड़िया बंधी के पानी में तीन किशोरों का शव बरामद हुआ है। मामले में हत्या की आशंका जताई गई है, शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। तहरीर और पोस्टमॉर्टम के आधार पर घटना की जाँच और कार्रवाई की जाएगी।

तीनों किशोर एक ही परिवार के सदस्य हैं। इनमें सुधांशु तिवारी पुत्र राजेश तिवारी, शिवम तिवारी पुत्र राकेश तिवारी और हरिओम तिवारी पुत्र मुन्ना लाल तिवारी हैं। राकेश तिवारी और मुन्ना लाल तिवारी सगे भाई हैं और राजेश तिवारी चचेरे भाई हैं।

30 नवंबर को राजेश तिवारी की बहन की शादी थी। 1 दिसंबर को विदाई हो चुकी थी, इसलिए सब आराम से सो रहे थे। तभी तीनों किशोर परिजनों से नज़र छुपा कर जंगल में बेर खाने के लिए निकले थे। सुधांशु और शिवम विंध्यवासनी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कक्षा आठवीं के छात्र थे और हरिओम प्रयागराज स्थित नैनी में अंग्रेज़ी माध्यम का कक्षा आठवीं का छात्र था।

Back to top button