ख़बरराजनीति

यूपी पंचायत चुनाव: साड़ियां-दाम-दबंगई के बीच वोटरों को रिझाने लुभाने में जुटे दावेदार

लखीमपुर-खीरी : त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में सबसे ज्यादा कड़ा मुकाबला प्रधान पद के प्रत्याशियों के बीच है। वोटरों को लुभाने के लिए उम्मीदवारों ने हर तरह के हथकंडे अजमा रहे हैं। कहीं पर महिलाओं को लुभाने के लिए गुपचुप तरीके से साड़ियां व पायल बांट रहे हैं तो कुछ प्रत्याशी गांधी छाप नोटों से मदद करके मतदाताओं को अपनी तरफ आकर्षित मे लगे दिखाई पड़ रहे हैं।अगर इससे भी बात नहीं बन रही तो दबाव डालकर का इस्तेेमाल मतदाताओं को डराने धमकाने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। ऐसी शिकायतें भी आ रही हैं।

जनपद की 1165 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के लिए 8380 प्रत्याशी मैदान में हैं। तीन दिन बाद मतदान होना है, इसलिए चुनाव प्रचार भी चरम पर पहुंच गया है। सुबह होते ही प्रत्याशी और उनके समर्थकों का काफिला मतदाताओं के घरों पर दस्तक देने लगता है,ये सिलसिला रात तक चलता है। पिछले चुनावों की अपेक्षा इस बार शराब की दावतों में कमी आई है, जिसका कारण कुछ जनपदों में अवैध शराब पीने से लोगों की मौत होना है। लिहाजा प्रत्याशियों ने दूसरे हथकंडे अपनाए हैं। जैसे कोल्ड ड्रिंक खुलेआम बांटी जा रही है। तो कहीं महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए साड़ियां बांटी जा रहीं हैं।यह काम प्रत्याशियो के द्वारा रात में बेहद गुपचुप तरीके से किया जा रहा है,जिससे पुलिस-प्रशासन को भनक नहीं लग पा रही है।

वहीं कुछ ग्राम पंचायतों में उम्मीदवारों द्वारा मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए रुपये भी दिए जा रहे हैं।ऐसे ही एक मामले में बीती रात में सदर विकास खण्ड की ग्राम पंचायत सरखनपुर में एक प्रत्याशी के पुत्र द्वारा मतदाताओं को लुभाने के लिए रुपये बांटे जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया गया।इसमें आरोप हैं कि रुपये बांटने के साथ ही एक सरकारी अधिकारी द्वारा अपनी प्रत्याशी मां के पक्ष में चुनाव प्रचार किया जा रहा है।

प्रत्याशी का नाम नहीं,दूसरे लोग मांग रहे वोट

बिजुआ निवासी एक शिकायतकर्ता ने चुनाव कंट्रोल रूम मेें शिकायत दर्ज कराई है कि चुनाव प्रचार के लिए लगाए गए पोस्टर में प्रत्याशी का नाम नहीं है,बल्कि दूसरे लोगों के नाम लिखकर वोट मांगे जा रहे हैं। सदर ब्लॉक की ग्राम पंचायत छाउछ निवासी एक शिकायतकर्ता ने शिकायत दर्ज कराई है कि अमरेंद्र वर्मा दूसरे के चुनाव निशान पर अपना नाम लिखवा प्रचार प्रसार कर रहे हैं। जबकि प्रत्याशी का नाम अंकित नहीं है।

गाली-गलौज कर वोटरों को धमकाने का आरोप

बांकेगंज ब्लॉक की ग्राम पंचायत सलेमपुर कुकरा निवासी एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई है कि पूर्व प्रधान फजलू रहमान ग्राम पंचायत में गाली-गलौज कर मतदाताओं को डरा-धमकाकर दबाव बना रहा है।इससे गांव में भय का माहौल बना हुआ है। चुनाव कंट्रोल रूम के लोगों ने इस मामले में शिकायतकर्ता को पुलिस कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज कराने की सलाह दी है।ऐसे ही धौरहरा क्षेत्र की ग्राम पंचायत सिरसी निवासी एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई है कि प्रधान पद के प्रत्याशी कैलाशनाथ बाहर से आदमी बुलाकर गांव के लोगों को डराते-धमकाते हैं और बूथ कैप्चरिंग की आशंकाएं जाहिर की है।

जिम्मेदार कहते हैं….

गांवों में चुनाव प्रचार पर स्थानीय पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से नजर रखे हुए है।चुनाव कंट्रोल रूम में प्राप्त होने वाली शिकायतों का निस्तारण कराया जा रहा है। साड़ी और रुपये बांटने की शिकायत मिलती है,तो संबंधित के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
(शैलेंद्र कुमार सिंह-डीएम खीरी)

Back to top button