उत्तर प्रदेशराजनीति

यूपी पंचायत चुनाव : कितनी सीटें गायब हुईं, कहां-कहां नहीं होंगे चुनाव, यहां है हर आंकड़ा

लखनऊ. उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत चुनाव 2021 (Uttar Pradesh gram Panchayat Election 2021) को शीघ्र कराने के लिए यूपी सरकार बेहद तेज गति से काम कर रही है। परिसीमन का काम पूरा हो गया है। ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत वार्डों की सूची जारी कर दी गई है। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में हुए परिसीमन में 69 जिला पंचायतें और 880 ग्राम पंचायतें गुम हो गई हैं। वर्ष 2015 में 3120 जिला पंचायतें थी जो वर्ष 2021 में घटकर 3051 रह गईं हैं।

880 ग्राम पंचायतें विलीन :- उत्तर प्रदेश के नए आंकड़ों के अनुसार इस बार 58,194 ग्राम पंचायतों में प्रधान चुने जाएंगे। नए परिसीमन के अनुसार 880 ग्राम पंचायतें शहरी क्षेत्रों में विलीन हो गई हैं। वर्ष 2015 में पूरे प्रदेश में 59,074 ग्राम पंचायतें थी। ग्राम पंचायतों में वार्डों की संख्या भी 12,745 कम हो गई है।

यूपी होगा 826 ब्लाक प्रमुखों का चुनाव :- यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 में 75,805 क्षेत्र पंचायत सदस्य चुने जाएंगे। यह वर्ष 2015 की तुलना में 1,996 कम हैं। वर्ष 2015 में 77,801 क्षेत्र पंचायत सदस्य निर्वाचित हुए थे। सूबे में इस बार 826 ब्लाक प्रमुखों का चुनाव होगा।

नए परिसीमन में घटी संख्या :- पंचायतीराज निदेशक किंजल सिंह ने बताया कि, परिसीमन के बाद वर्ष 2015 की तुलना में ग्राम पंचायत वार्ड 7,44,558 से घटकर 7,31,813 रह गए हैं। इसी तरह क्षेत्र पंचायत सदस्य भी 77,801 से कम होकर 75,805 रहेंगे।

36 जिलों में जिला पंचायत सदस्यों की संख्या में बदलाव नहीं:- ताज्जुब की बात है कि उत्तर प्रदेश में 36 जिलों में जिला पंचायत सदस्यों की संख्या में कोई बदलाव नहीं हुआ। तीन जिलों में वर्ष 2015 से अधिक सदस्य चुने जाएंगे। इसमें गोंडा में 51 की बजाए 65, मुरादाबाद में 34 की बजाए 39 तथा संभल में 27 की बजाए 35 जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित होंगे।

Back to top button