उत्तर प्रदेश

यूपी पंचायत चुनाव : इतने गांव माने गए संवेदनशील, जानें कितनों को जारी की गई नोटिस

यूपी में भले ही अभी पंचायत चुनाव की तारीख का ऐलान ना हुआ हो लेकिन पुलिस प्रशासन ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। खुफिया तंत्र एक्टिव कर दिया गया है। अंबेडकरनगर जिले में 11643 व्यक्तियों को न सिर्फ 107/16 के तहत नोटिस जारी की गई है बल्कि पाबंद भी किया गया है। इसके साथ ही 302 गांवों को संवेदनशील व अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। सभी गांव में एसओ को आदेश दिया गया है कि 2015 में हुई चुनावी रंजिश का विवरण एसपी कार्यालय को उपलब्ध कराएं, जिससे इन लोगों पर नजर रखी जा सकी।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जरूरी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। सभी थानाध्यक्षों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने अपने क्षेत्र के बीट निरीक्षकों व आरक्षियों के माध्यम से यह रिपोर्ट एसपी कार्यालय को उपलब्ध कराएं कि पूर्व में हुए चुनाव के दौरान मौजूदा समय में चुनाव को लेकर हुए किसी भी प्रकार की रंजिश तो नहीं हुई है। एसपी आलोक प्रियदर्शी बताते हैं कि  पुलिस प्रशासन जिले में सभी जरूरी प्रक्रिया अपना रहा है। चुनाव का कार्यक्रम तय होता रहेगा, उससे पहले पुलिस की टीम शांति व्यवस्था कायम करने में जुटी हुई है। टीम अपना काम कर रही है।

पुलिस अधिकारियाें ने बताया कि जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अब तक 11 हजार 643 पर विभिन्न प्रकार की कार्रवाई की गई है। इसमें 107/16 के तहत 11643 व्यक्तियों को नोटिस जारी की गई है। कहा कि नोटिस भेजे जाने व पाबंद किए जाने का कार्य आगे भी जारी रहेगा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को सकुशल निपटाने के लिए गांवों को संवेदनशील व अतिसंवेदनशील चिह्नित किए जाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। एसपी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले के कुल 302 गांवों को संवेदनशील व अतिसंवेदनशील घोषित किया जा चुका है। इसमें 192 गावों को संवेदनशील जबकि 110 ग्राम पंचायतों को अतिसंवेदनशील चिह्नित किया जा चुका है।

Back to top button