क्राइम

युवती ने प्रधानपति को मार डाला, बोली- रखैल बनाना चाहता था, घर वालों से बताती तो मुझे पीटते थे

कन्नौज में पुलिस ने तीन दिन पहले हुए प्रधानपति हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। मामले में पुलिस ने एक युवती सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी युवती के मुताबिक प्रधानपति उससे छेड़खानी करता था। जब यह बात को घर वालों से बताती तो उसे पीटते थे। इसी से तंग आकर उसने प्रधानपति की हत्या कर दी। हत्या के बाद वह घबरा गई थी, इसलिए फरार हो गई थी।

युवती ने बताया कि उसने अपनी सुरक्षा के लिए मामा से तमंचा मंगवाया था। बता दें, सदर कोतवाली क्षेत्र की रामश्री जलालपुर अमरा ग्राम पंचायत की नवनिर्वाचित प्रधान हैं। बीते 20 जून की रात उनके पति 50 वर्षीय रामशरण की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

डेढ़ साल से कर रहा था छेड़खानी

हत्यारोपी युवती ने बताया कि प्रधानपति बहुत बुरा आदमी था। वह मुझे पिछले डेढ़ साल से छेड़ रहा था। कहीं गली में तो कहीं बहाने से बुलाकर मुझे दबोचने की कोशिश करता था। इसकी वजह से उससे मेरी तनातनी चला करती थी। ऐसा नहीं है कि वह सिर्फ मुझे परेशान करता था। वह गांव के दूसरी महिलाओं और अन्य लोगों को भी ऐसे ही परेशान करता रहा है। उससे हर कोई दुखी है। पता नहीं कैसे यह जीत गया।

घरवालों की सच्चाई बताई तो मुझे ही मारा पीटा

युवती ने बताया कि मैं छेड़खानी से बहुत तंग आ चुकी थी। इतना परेशान हो गयी थी कि मुझे न नींद आती न ही किसी काम में मन लगता था। किसी तरह से यह बात जब मैंने अपने घरवालों को बताई तो उन्होंने मुझे ही मारना पीटना शुरू कर दिया। वह बोलते तुम गलत बोल रही हो। वह सही आदमी है। जबकि ऐसा नहीं था। मेरे परिवार के लोग उससे डरते थे। घरवालों का रवैया देख मैंने उन्हें फिर बताना ही छोड़ दिया।

सेफ्टी के लिए मामा से लिया तमंचा

युवती ने बताया कि प्रधानपति रामशरण मुझे अपनी रखैल बनाना चाहता था। उसने हर तरह से मुझे आजमाया। यही नहीं उसने मेरी बहन से भी गलत काम किया है। बहुत लोगों के साथ गंदा काम किया है। जब मैं उससे बहुत परेशान हो गयी तो मैंने अपनी बात अपने मामा से बतायी। मामा ने मुझे तमंचा लाकर दिया। जिसे मैंने अपनी सुरक्षा के लिए रखा था।

घटना वाले दिन वह मुझे छेड़ रहा था

युवती ने बताया कि 20 जून को घटना वाले दिन मेरा उसके भाई से झगड़ा हुआ था। जिसकी शिकायत के लिए मां ने प्रधानपति को घर पर बुलाया था। प्रधानपति जब घर पर आया तो मां उसके लिए पानी वगैरह लेने चली गयी। मैं उसके सामने बैठी थी। मौका देख प्रधानपति ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे अपनी गोद में बिठाने का प्रयास किया। मैं हाथ छुड़ा कर भाग गयी। तब तक मां भी आ गयी। मैं परेशान थी। जब मैं बाहर आई तो मेरे हाथ में तमंचा था। मैंने प्रधानपति रामशरण को पीछे से गोली मार दी।

3 दिनों तक इधर-उधर भागती रही

युवती ने बताया कि जब खून से लथपथ रामशरण गिर गया तो मैं घबरा गयी। मैं वहां से भाग गयी। नदी पार कर मैं फर्रुखाबाद आ गयी। यहां इधर-उधर रही। फिर कुछ करीबियों ने कहा कि कन्नौज आकर सरेंडर कर दो। फिर मैं कन्नौज आ गयी। युवती ने बताया कि मेरे साथ कुछ और लोगों को हत्या में शामिल बताया जा रहा है। जबकि इस हत्या की मैं ही जिम्मेदार हूं।

युवती के प्रेम प्रसंग से नाराज था प्रधानपति

सदर कोतवाल विकास राय ने बताया कि पूछताछ में युवती ने बताया कि आरोपित श्याम बिहारी से उसका प्रेम-प्रसंग था। प्रधानपति रामशरण दोनों की नजदीकियों से चिढ़ता था। यही वजह रही कि दोनों ने मिलकर प्रधानपति की हत्या की साजिश रची। जानकारी के मुताबिक युवती के प्रेमी श्याम बिहारी की शादी सदर कोतवाली के ही हरदोई रोड स्थित बक्शीपुर्वा में तय हुई है। 24 जून को ही उसकी बारात जानी थी। लेकिन उसके पहले ही यह हत्याकांड हुआ और उसे जेल जाना पड़ा।

अभी 5 आरोपियों की तलाश की जा रही है

एसपी कन्नौज प्रशांत वर्मा ने बताया कि हत्याकांड को अंजाम देने में अहम किरदार को अंजाम देने के तीन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अब बाकी के पांच और आरोपितों की तलाश की जा रही है। इसमें तीन बबलू, राहुल और टिकरी को तो प्रधान के पुत्र ने ही आरोपित बनाया था। इसके अलावा जांच के दौरान असलहा सप्लायर के रूप में सामने आए वेदराम और भुप्पा को भी पुलिस तलाश रही है। पुलिस की छानबीन में यह भी सामने आया है कि प्रधान पति की हत्या के लिए जिस असलहा का इस्तेमाल किया गया है, उसकी सप्लाई करने वाले भुप्पा और वेदराम ने भी अपना पुराना बदला पूरा किया। पूछताछ में सामने आया है कि भुप्पा और रामशरन के बीच पुरानी रंजिश थी। भुप्पा अपने पिता की प्रताड़ना का बदला लेना चाहता था। इसलिए जब श्याम बिहारी ने हत्या का खाका तैयार किया तो वह उसे असलहा देने को तैयार हो गया।

Back to top button