जिंदगी

यहां लड़कियां पहनती हैं बिना ब्लाउज के साड़ी, इसके फायदे भी जान लीजिए

भारत देश में कई तरह की परंपराएं पिछले लंबे समय से चली आ रही, उनमें से कुछ अच्छे हैं तो कुछ बुरे भी हैं। चाहे अच्छे हो या बुरे मौजूदा समय में कई तरह की परंपराओं का खात्मा भी हो रहा है। लेकिन अब भी कई तरह के परंपराएं जारी है। लड़कियों के ये छोटे कपडे बनते जा रहे है फैशन का हिस्सा।
ब्लाउज फ्री साड़ी:
हाल ही में सोशल मीडिया पर ब्लाउज फ्री साड़ी का कैम्पेन चल रहा है। जिसमें एक से बढ़कर एक मॉडल और खूबसूरत महिलाएं बिना ब्लाउज की साड़ी पहनकर फोटो अपलोड कर रही है। जिसे फैशन का नाम दिया जा रहा है।
यहां पहनती है ब्लाउज फ्री साड़ी:
छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्रों में ब्लाउज फ्री साड़ी पहनने का चलन सदियों से चला आ रहा है और आज भी यहां ट्राइबल महिलाएं ब्लाउज फ्री साड़ी ही पहनती है। यहां के आदिवासी महिलाएं आज भी खेतों में ब्लाउज फ्री साड़ी पहनकर काम करती दिखती है।
क्या है इसके फायदे:
आदिवासी अंचलों की महिलाओं का कहना है कि ये स्टाइल सुविधाजनक होने के साथ ही खेते में काम करने, बोझ उठाने के लिए भी ठीक होता है।
Back to top button